fbpx
Now Reading:
झारखंड चुनाव : महागठबंधन ने पहले चरण की 13 सीटों पर घोषित किये प्रत्याशी, राजद नाराज
Full Article 2 minutes read

झारखंड चुनाव : महागठबंधन ने पहले चरण की 13 सीटों पर घोषित किये प्रत्याशी, राजद नाराज

Jharkhand Election 2019

पहले चरण में सबसे ज्यादा 5 सीटों पर चुनाव लड़ेगी कांग्रेस. झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) 4 सीट पर और 4 सीट पर राष्ट्रीय जनता दल अपना प्रत्याशी देगी. अभी महागठबंधन को लेकर कई चीजें हैं जो तय नहीं है. वामदल को लेकर बात हो रही है.

पहले फेज की 13 सीटों का हुआ एलान

गुमला – जेएमएम

लोहरदगा- कांग्रेस

डालटेनगंज – कांग्रेस

बिशुनपुर – जेएमएम

चतरा- आरजेडी

मनिका – कांग्रेस

लातेहार – जेएमएम

पांकी – कांग्रेस

बिश्रामपुर – कांग्रेस

चतरा – राजद

हुसैनाबाद – राजद

गढ़वा – जेएमएम

हेमंत सोरेन बोले : राष्ट्रीय जनता दल के नेता तेजस्वी यादव से बातचीत चल रही है. हम लगातार संपर्क में हैं. लालू जी सरकार के कोपभाजन का शिकार हैं. उन्हें जेल में रखा गया है. कई बातें उनकी सलाह के बगैर सामने नहीं आती. गठबंधन के बारे में राजद को पूरी जानकारी है. उन्हें निर्णय लेने में वक्त लग रहा है. लालू जी के साथ ऐसा व्यवहार हो रहा है, जैसे वह कोई बड़े आतंकी हों.

महागठबंधन के प्रेस कॉन्फ्रेंस से दूर रहे राष्ट्रीय जनता दल के नेता तेजस्वी यादव.

आरपीएन सिंह बोले : झारखंड मुक्ति मोर्चा 43 सीटों पर चुनाव लड़ेगी. कांग्रेस 31 और राष्ट्रीय जनता दल 7 सीट पर चुनाव लड़ेगी. देवघर, गोड्डा, कोडरमा, चतरा, बरकट्ठा, छतरपुर, हुसैनाबाद सीट राजद के हिस्से में आयी

महागठबंधन का प्रेस कॉन्फ्रेंस शुरू. कांग्रेस प्रभारी आरपीएन सिंह ने कहा : हेमंत सोरेन के नेतृत्व में चुनाव लड़ेगा महागठबंधन.

मुख्यमंत्री के दावेदार हेमंत सोरेन होंगे. झारखंड में कोई भी दोस्ताना लड़ाई नहीं होगी. जो भी इस गठबंधन के खिलाफ चुनाव लड़ेगा, पार्टी उसके खिलाफ कार्रवाई करेगी.

बिश्रामपुर को लेकर मामला फंसने की खबर.

सीट को लेकर महागठबंधन के बीच पेच फंसा. बैठक से नाराज होकर निकले तेजस्वी यादव. फोन पर बातचीत कर मनाने की कोशिश कर रहे हैं सहयोगी दल.

झारखंड विधानसभा चुनावों के लिए महागठबंधन में सीटों का पेच अब भी फंसा हुआ लगता है. दो बजे दि रांची प्रेस क्लब में यूपीए के घटक दलों के प्रत्याशियों की घोषणा होनी थी, लेकिन अब तक प्रेस कॉन्फ्रेंस शुरू नहीं हो पायी है. ऐसे में लग रहा है कि सीटों पर अंतिम रूप से सहयोगी दलों के बीच सहमति नहीं बन पायी है. बताया गया है कि झारखंड मुक्ति मोर्चा के नेता हेमंत सोरेन के आवास पर अब भी बैठक चल रही है.

 

Input your search keywords and press Enter.