fbpx
Now Reading:
इस मासूम का दर्द सुनकर सिहर उठेंगे, 12 साल की मासूम के साथ कई लोगों ने की दरिंदगी
Full Article 3 minutes read

इस मासूम का दर्द सुनकर सिहर उठेंगे, 12 साल की मासूम के साथ कई लोगों ने की दरिंदगी

झारखंड के रांची स्थित रिम्स में आठ दिन तक बेहोशी की हालत में रहने के बाद 12 वर्षीय बच्ची ने मंगलवार को बरियातू पुलिस को बयान दिया कि मुंबई में एक साल तक दर्जनों लोगों ने उसके साथ दुष्कर्म किया। बच्ची के बयान पर महिला शमा परवीन, तबरेज आलम और अब्दुल रहमान के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज हुई है।

बरियातू पुलिस ने बताया कि बच्ची कोडरमा की रहने वाली है। डेढ़ साल पहले उसकी मौसी शमा परवीन पढ़ाने के नाम पर उसे अपने साथ मुंबई लेकर गई थी। वहां पढाई की जगह बच्ची से घर का काम कराया जाने लगा। बच्ची ने इसका विरोध किया तो उसके साथ मारपीट की जाने लगी। हर रात बच्ची को नशे की दवा दे दी जाती थी और उसके साथ दुष्कर्म किया जाता था। बच्ची सुबह उठती तो उसके शरीर पर एक भी कपड़ा नहीं होता था। बच्ची ने इसकी जानकारी कई बार अपनी मौसी को दी पर मौसी डांट डपट कर उसे चुप करा देती थी। फरवरी माह में एक रात बच्ची को होश आया तो उसने देखा कि अब्दुल रहमान उसके साथ दुष्कर्म कर रहा है।

मौसी को दुष्कर्म की दी जानकारी तो हुई मारपीट
बच्ची ने पुलिस को बताया कि दुष्कर्म होने की घटना उसने मौसी को बताई तो मौसी ने उसके साथ मारपीट की। बच्ची को कई जगहों पर जला दिया गया। बच्ची के शरीर में कई जगहों पर जले का निशान है। बच्ची ने पुलिस को बताया कि अप्रैल माह में उसकी तबीयत ज्यादा खराब हुई तो मौसी बच्ची को लेकर कोडरमा पहुंची। बच्ची की हालत ज्यादा खराब थी। बच्ची की मां ने इसका कारण पूछा तो मौसी ने कहा कि कोई बात नहीं है। इलाज के लिए वह पैसा देगी। मौसी बिना पैसा दिए मुंबई लौट गई। एक माह से अधिक बच्ची का इलाज कोडरमा में हुआ। स्थिति में सुधार नहीं हुआ तो बच्ची को रिम्स रेफर कर दिया गया।

किसी को भी देखकर डर जा रही है पीड़िता
पुलिस का कहना है कि पिछले आठ दिनों से पीड़िता का बयान लेने का प्रयास किया जा रहा था। बच्ची इतनी डरी हुई है कि किसी को भी देखकर जोर जोर से चिल्लाने लग रही है। महिला पुलिसर्मियों के होने की वजह से बच्ची ने अपना बयान दिया।

बरियातू पुलिस जाएगी मुंबई
बरियातू पुलिस का कहना है कि मामले में प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है। पुलिस की एक टीम जल्द ही मुंबई जाएगी। बच्ची के परिजनों का बयान ले लिया गया है। रिम्स प्रबंधन से बच्ची के इलाज के बारे में बात की गई है। रिम्स प्रबंधन ने कहा है कि इलाज के दौरान बच्ची के परिजनों से एक भी पैसा नहीं लिया जाएगा।

Input your search keywords and press Enter.