fbpx
Now Reading:
आंधी-तूफ़ान का मुआवजा सिर्फ गुजरात को क्यों ? कमलनाथ बोले- MP क्यों भूल गए मोदी !
Full Article 3 minutes read

आंधी-तूफ़ान का मुआवजा सिर्फ गुजरात को क्यों ? कमलनाथ बोले- MP क्यों भूल गए मोदी !

गुजरात, राजस्थान और मध्य प्रदेश समेत देश के कई इलाकों में आंधी-तूफान से कहर मच गया है. अभी तक 31 लोगों की मौत हो गई है, जबकि दर्जनों घायल हैं.प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर घायलों के लिए दुख जताया और मुआवजे का भी ऐलान किया. लेकिन उन्होंने ऐसा सिर्फ गुजरात के लिए किया. अब इसी पर मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने निशाना साधा है और कहा है कि आप गुजरात नहीं पूरे देश के प्रधानमंत्री हैं.
आंधी-तूफ़ान का मुआवजा
प्राकृतिक आपदा के इस समय में राजनीति भी तेज हो गई है.दरअसल, बुधवार सुबह जैसे ही प्राकृतिक आपदा की खबर आई तो हर किसी को चिंता हुई. कुछ ही देर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का ट्वीट आया.
प्रधानमंत्री ने क्या किया ट्वीट?

अपने ट्विटर हैंडल @narendramodi से नुकसान पर दुख जताया. पीएम ने लिखा कि गुजरात के कई हिस्सों में आंधी-बारिश और तूफान की वजह से हुए नुकसान से काफी आहत हूं. सभी के परिवार के साथ मेरी संवेदनाएं हैं.

प्रधानमंत्री के ट्वीट के अलावा प्रधानमंत्री कार्यालय के ट्विटर हैंडल @pmoindia से मुआवजे का ऐलान किया गया. यहां से ट्वीट किया गया कि गुजरात में जिन लोगों की आंधी-तूफान के कारण मौत हुई है, उन सभी के परिवारों को दो लाख का मुआवजा और जो लोग घायल हुए हैं उन सभी को 50 हजार रुपये की मदद की जाएगी.

कमलनाथ ने लपका मोदी का ट्वीट
प्रधानमंत्री के इस ट्वीट में सिर्फ गुजरात का जिक्र होने से मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ भड़क गए. उन्होंने तुरंत ट्वीट कर कहा कि नरेंद्र मोदी जी, आप सिर्फ गुजरात नहीं बल्कि पूरे देश के प्रधानमंत्री हैं. कमलनाथ ने लिखा कि एमपी में भी बेमौसम बारिश व तूफ़ान के कारण आकाशीय बिजली गिरने से 10 से अधिक लोगों की मौत हुई है, लेकिन आपकी संवेदनाएं सिर्फ गुजरात तक सीमित? भले यहां आपकी पार्टी की सरकार नहीं है लेकिन लोग यहाँ भी बसते है.

राजस्थान में भी इस प्राकृतिक कहर का जमकर असर दिख रहा है. राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी अपने सभी राजनीतिक कार्यक्रमों को रद्द कर दिया है और अफसरों के साथ बैठक बुलाई है. अधिकारियों को मौके पर भेजा जा रहा है, अशोक गहलोत राज्य के हालात पर मीडिया से भी बात करेंगे. इसके अलावा चुनाव आयोग से इजाजत लेकर मुआवजे का ऐलान भी किया जाएगा.
Input your search keywords and press Enter.