fbpx
Now Reading:
‘पत्नी गलियां देती थी,नोचती थी ! इसलिए मैंने उसे मार डाला’ इंजीनियर ने ये लिखा और ख़त्म कर ली अपनी ज़िन्दगी भी
Full Article 4 minutes read

‘पत्नी गलियां देती थी,नोचती थी ! इसलिए मैंने उसे मार डाला’ इंजीनियर ने ये लिखा और ख़त्म कर ली अपनी ज़िन्दगी भी

जैसे जैसे पुलिस की तफ्तीश ग्लोबल कोचिंग सेंटर के संचालक मोहम्मद सहवान की ख़ुदकुशी और उनकी दूसरी पत्नी नमरा की हत्या की मिस्ट्री को सुलझाने में लगी है वो और भी उलझती जा रही है। कानपूर पुलिस ने क्राइम सीन को रूपांतरण भी किया है लेकिन अब तक किसी नतीजे पर नहीं पहुंच पाई है। इस मामले में पुलिस 100 ऐसे शख्स से पूछताछ कर कड़ी से कड़ी जोड़ने की कोशिश कर रही है, जिसका संबंध उनसे था और जिनका घर में रोजाना आना जाना रहता था।

मगर अब पुलिस को कानपुर के इस है प्रोफ़ाइल हत्याकांड में बेहद अहम् सुराग हाथ लगे है, जिससे इस हत्याकांड की परतें अब धीरे धीरे खुलती जा रही है। इस हत्याकांड की शुरूआती जांच में पाया गया था की कोचिंग संचालक मोहम्मद सहवान ने अपनी पत्नी नमरा की हत्या कर खुदकुशी कर ली थी।

लेकिन पुलिस के हाथ सहवान की एक डायरी लगी है।जिसे पढ़ने के बाद कई साड़ी परतें हटती दिखाई दे रही है। सहवान ने अपनी डायरी में अपने हालातों का जिक्र करते हुए लिखा है की वो अपनी जिंदगी और पत्नी से बेहद तंग आ गया था। अपने हालातों से आजिज आकर उसने अपनी पत्नी की हत्या कर दी और खुद सल्फास खाकर जान दे दी।

मोहम्मद सहवान की डायरी से खुलासा हुआ है की आठ माह पहले बीटेक कर रही बांगरमऊ की नमरा खान से प्रेम विवाह किया था। इस विवाह की जानकारी होने पर नमरा के पिता शहंशाह खां ने जमकर विरोध किया था लेकिन कुछ दिन बाद दोनों पक्षों में समझौता हो गया था। निकाह के बाद से नमरा और सहवान दोनों फ्लैट में रह रहे थे।

आईआईटी रुड़की से बीटेक करने वाले सहवान की ये दूसरी शादी थी और नमरा खान से शादी करने के लिए उसने पहली पत्नी समराना को तलाक दे दिया था। शादी के बाद सहवान का बेटा उनके साथ रहता था जिसे नमरा बहुत मारती पीटती थी जिस वजह से उसे अपने बेटे को दूर भेजना पड़ा था। रोज रोज के झगड़ों से वो तंग आ चुका था और अब जीना नहीं चाहता था। मोहम्मद सहवान की डायरी में ये भी लिखा है की उसकी मौत के बाद उसकी सारी सम्पति पहली पत्नी और बच्चों को दे दी जाए।पुलिस ने डायरी कब्जे में लेकर आगे की जांच शुरू कर दी है।

डायरी में मोहम्मद सहवान ने इस बात का जिक्र किया है की उसका शादीशुदा जीवन बेहद खराब चल रहा था और नमरा कई लड़कों से बातचीत करती थी।नमरा खुद दिनभर सोती थी और जब वो सोते थे तो उसे नोचती थी। साथ ही उससे खूब गाली गलोच भी करती थी।

शाम को ही हत्या कर दी !

तफ्तीश में सामने आया है उस शाम भी दोनों के बीच झगड़ा हुआ था। वो बेहद नाराज़ हो गया था और तभी सहवान ने नमरा की देर शाम ही हत्या कर दी थी। इसके बाद अपने बचाव के लिए पत्र लिखा, पर गड़बड़ी होने पर उसे जला दिया, फिर दूसरा पत्र लिखा। सहवान ने नमरा की हत्या के बाद अपने दोनों बच्चों से बात की और सुसाइड नोट लिख खुदकशी की योजना बनाई।

पुलिस ने मीडिया को बताया कि नमरा के की हत्या सिर पर किसी भारी वस्तु के प्रहार की गई है। घटनास्थल से एक कुकर मिला है जो बुरी तरह पिचका हुआ था। घटना के खुलासे को लेकर सहवान का भाई और अपार्टमेंट के गार्ड पूछताछ की जा रही है।

Input your search keywords and press Enter.