fbpx
Now Reading:
4 रन पर ऑलआउट हुई पूरी टीम, कोई भी खिलाड़ी नहीं खोल पाया खाता

4 रन पर ऑलआउट हुई पूरी टीम, कोई भी खिलाड़ी नहीं खोल पाया खाता

Duck tales

क्रिकेट के मैदान पर यूँ तो रिकार्ड्स के बनने और टूटने का सिलसिला चलता रहता है लेकिन कोच्ची के मल्लापुरम के पेरिनथलमन्ना स्टेडियम पर एक ऐसा रिकार्ड बना जिसके बारे में किसी ने सपने में भी नहीं सोचा था. तो चलिए आपको बताते हैं.

दरअसल मल्लापुरम के पेरिनथलमन्ना स्टेडियम पर आज वायनाड और कसारागोड के बीच लड़कियों का एक अंडर-19 मुकाबला खेला गया. जहां कसारागोड की पूरी टीम महज 4 रन पर पवेलियन लौट गई.लेकिन हैरत की बात ये है कि इस मुकाबले में कसारागोड की टीम का कोई भी बल्लेबाज खाता तक नहीं खोल पाई और सभी के सभी क्लीन बोल्ड हो गए. कसारागोड टीम के जितने भी रन बने उसमे केवल वायनाड के गेंदबाजों का योगदान रहा. क्योंकि विपक्षी टीम की गेंदबाजों के 4 एक्स्ट्रा रन दिए थे. 5 रनों के आसन लक्ष्य का पीछा करने उतरी वायनाड ने एक ओवर में जरूरी 10 विकेट से मैच अपने नाम कर लिया.

वहीं इससे पहले कसारागोड की कप्तान एस अक्षता ने टॉस जीतकर बल्लेबाजी का फैसला किया था. लेकिन उनका यह फैसला गलत साबित हुआ. कसारागोड की शुरुआत अच्छी नहीं रही. टीम की ओपनर विक्षिता और एस चित्रा 2 ओवर तक बल्लेबाजी करने के बावजूद खाता तक नहीं खोल पाईं. तीसरे ओवर में वायनाड की कप्तान नित्या ने कहर बरपाया और दोनों ओपनर्स के अलावा कसारागोड की के रजिता को भी पवेलियन भेज दिया. अगले दो ओवर में कसारागोड ने अपने 3 विकेट और गंवा दिए. इसके बाद टीम की सभी बल्लेबाज आया राम गया राम की तर्ज पर बिना खाता खोले पवेलियन लौटीं.

क्रिकेट के इतिहास में शायदयह पहला मामला है जब किसी टीम के सभी खिलाड़ी एक ही तरीके से आउट हुए हैं. वहीं इससे पहले फरवरी 2017 में केरल के खिलाफ खेले गए मैच में नगालैंड की लड़कियों की अंडर-19 टीम महज 2 रन पर ऑलआउट हो गई थी. उस मैच में नगालैंड की ओपनर मेनका सिर्फ एक रन बना पाई थीं, जबकि वाइड गेंद के कारण एक अतरिक्त रन से टीम के खाते में जुड़ा था. टीम के बाकी नौ बल्लेबाज अपना खाता तक नहीं खोल पाए थे. इस मुकाबले में केरल ने 299 गेंद शेष रहते जीत दर्ज कर ली थी.

Input your search keywords and press Enter.