fbpx
Now Reading:
जानिये क्यों आखिर आपस में भीड़ गए जावेद अख्तर और शेखर कपूर, बात इतनी बढ़ गई की
Full Article 2 minutes read

जानिये क्यों आखिर आपस में भीड़ गए जावेद अख्तर और शेखर कपूर, बात इतनी बढ़ गई की

लेखक जावेद अख्‍तर अक्‍सर सोशल मीडिया पर सामाजिक मुद्दों से लेकर फिल्‍म इंडस्‍ट्री तक हर मुद्दे पर बेबाकी से अपनी राय रखते हैं. हाल ही में कुछ ऐसा हुआ कि जावेद अख्‍तर निर्देशक शेखर कपूर पर भड़क गये और उन्‍होंने उन्‍हें साइकेट्रिक से मिलने तक की सलाह दे डाली. दरअसल ‘मिस्‍टर इंडिया’ के निर्देशक शेखर कपूर ने ट्वीट किया,’ बंटवारे के बाद शरणार्थी की तरह अपनी जिंदगी की शुरुआत की. मेरे माता-पिता ने मेरी जिंदगी बनाने के लिए अपना सबकुछ लगा दिया. मैं हमेशा बुद्धिजीवी वर्ग से डरता रहा.’

उन्‍होंने आगे लिखा,’ बुद्धिजीवी वर्ग ने हमेशा मुझे अधूरा और छोटा महसूस करवाया और जब मेरी फिल्‍म चल पड़ी तो उन्‍होंने मुझे गले लगा लिया और मेरी सराहना की. मुझे आज भी उन लोगों से डर लगता है. उनका गले लगाना सांप के काटने जैसा है. मैं आज भी शरणार्थी हूं.’
शेखर कपूर के इस ट्वीट को देखकर जावेद अख्‍तर भड़क गये. उन्‍होंने लिखा,’ वो बुद्धिजीवी कौन थे जिन्‍होंने आ‍पको गले लगाया और आपको उनका गले लगाना सांप काटने जैसा लगा ? श्याम बेनेगल, आदूर गोपाल कृष्णा या रामचंद्र गुहा ? सच में ? शेखर कपूर आपकी तबीयत ठीक नहीं है. आप को मदद की आवश्यकता है. चलिये, किसी अच्छे मनोचिकित्सक से मिलने में कोई शर्म नहीं है.’

जावेद अख्‍तर यहां नहीं रूके उन्‍होंने एक ट्वीट करते हुए लिखा,’ आपका क्‍या मतलब है कि आप अभी भी शरणार्थी हैं. आपके कहने का मतलब है कि आप अभी भी खुद को भारतीय नहीं बल्कि बाहरी समझते हैं. क्‍या आपको यह महसूस नहीं होता कि यह आपकी धरती है. अगर आपको भारत में शरणार्थी की तरह महसूस हो रहा है तो आपको अपनापन कहां लगेगा पाकिस्‍तान में. आपका ये अमीर, गरीब और अकेले होने का ड्रामा बंद करें.’
बता दें कि शेखर कपूर उन कलाकारों में शामिल हैं जिन्‍होंने मॉब लिचिंग रोकने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखने के बाद ट्वीट किया था. इस खत के बाद अनुराग कश्‍यप, कंगना रनौत और प्रसून जोशी सहित 61 सितारों ने पीएम को पत्र लिखा था.

Input your search keywords and press Enter.