fbpx
Now Reading:
ईवीएम स्ट्रांग रूम परिसर में पहुंचा खाली ट्रक का राज़ क्या है ? कांग्रेसियों ने जमकर मचाया हंगामा

ईवीएम स्ट्रांग रूम परिसर में पहुंचा खाली ट्रक का राज़ क्या है ? कांग्रेसियों ने जमकर मचाया हंगामा

हरियाणा के फरीदाबाद से एक के बाद एक फ़र्ज़ी वोटिंग के कई वीडियो सामने आये था। मामले में बीजेपी के एक पोलिंग अगणित की गिरफ़्तारी भी हुई थी। अबफतेहाबाद में ईवीएम स्ट्रांग रूम परिसर में एक संदिग्ध ट्रक के पहुंचनेकी वजह से कांग्रसियों ने जमकर हंगामा किया। मामला भोड़िया खेड़ा कॉलेज का है। यहां 12 मई को हुए मतदान के बाद ईवीएम मशीनों को स्ट्रांग रूम में रखा गया है। इस ट्रक में ईवीएम मशीनें लोड की गई थीं जब कांग्रिसियों को इसकी सूचना मिली तो वह तुंरत वहां पहुंच गए और जमकर हंगामा किया।

Related Post:  राहुल के इस्तीफे पर चिदंबरम का बड़ा बयान, कहा सुसाइड कर लेंगे कार्यकर्ता

बता दें कि कांग्रेस के कार्यकर्ता इस ट्रक का पीछा पहले से ही कर रहे थे। इसके बाद कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अशोक तंवर भी वहां पहुंच गए। प्रदेश अध्यक्ष ने कॉलेज परिसर में तैनात सुरक्षाकर्मियों से ट्रक के बारे में जानकारी भी मांगी। हंगामा बढ़ता देख एसपी विजय प्रताप सिंह, उपायुक्त एवं जिला निर्वाचन अधिकारी धीरेंद्र खड़गता, डीएसपी सुभाष चंद्र सहित चुनाव आयोग के अधिकारी भी वहां पहुंच गए।

इसके बाद कांग्रेस के विरोध को देखते हुए संदिग्ध ट्रक को वहां से भेज दिया गया। कांग्रेस ने आरोप लगाया कि सुरक्षाकर्मी बीजेपी की एजेंट की तरह काम कर रहे हैं। बिना परमिशन के स्ट्रॉन्ग रूम परिसर में पहुंचे ट्रक की जांच किए बिना ही उसे वापस भेज दिया गया। इसके साथ कांग्रेस ने कहा कि डीसी धीरेंद्र खड़गता ने पूरे मामले पर ढीला रवैया अपनाया। ट्रक को ईवीएम बदलने के लिए बुलाया गया था।

Related Post:  पीली साड़ी आँखों पर काला चश्मा और हाथ में EVM लिए कौन है ये चुनाव अधिकारी ? लोग इनके मतदान केंद्र पर ही वोट डालना चाहते हैं

वहीं धीरेंद्र खड़गता ने मामले पर कहा है कि ट्रक में खाली संदूकों से भरा हुआ तो। मतगणना के बाद ईवीएम मशीनों को इन संदूकों में भरा जाता। यह ट्रक तहसील द्वारा सहायक निर्वाचन अधिकारी के निर्देश पर भेजा गया था। लेकिन राजनीतिक दलों में किसी भी तरह का असंतोष न फैले इसकी वजह से हमने ट्रक को वापस भेज दिया।

Input your search keywords and press Enter.