fbpx
Now Reading:
महाराष्ट्र: कोल्हापुर और सांगली, तबाही के बाद की तस्वीर, महिलाओं ने जवानों का राखी बांध के किया स्वागत
Full Article 2 minutes read

महाराष्ट्र: कोल्हापुर और सांगली, तबाही के बाद की तस्वीर, महिलाओं ने जवानों का राखी बांध के किया स्वागत

मुंबई: महाराष्ट्र के कोल्हापुर और सांगली जिले में भारी तबाही के बाद बाढ़ में फंसे लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचा दिया गया है. बाढ़ में फंसे लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने का जिम्मा भारतीय सेना, एनडीआरएफ के जवान और स्थानीय पुलिस ने मिलकर किया. महाराष्ट्र में बाढ़ के भयानक तस्वीर तो आपने देखी ही थी लेकिन अब जो वीडियो सामने आया है वह भावनाओं से भरा हुआ है.

इस वीडियो में सुरक्षित स्थानों पर पहुंचे लोग सेना के जवान और स्थानीय पुलिस और एनडीआरएफ के जवानों को दुआएं देते दिख रहे हैं. सांगली और कोल्हापुर की महिलाओं ने इन भारतीय जवानों का राखी बांधकर स्वागत किया.

मंदिर मस्जिद सब डूब गए, वर्दी में जान बचाने आए भगवान
वीडियो में आप देख सकते हैं कि सुरक्षित स्थानों पर पहुंचे लोगों ने राहत और बचाव के काम में जुटे जवानों के काम की सराहना की और यह बताया कि अगर वक्त पर यह जवान हम लोगों तक नहीं पहुंचते तो हम लोगों की जिंदगी मौत में तब्दील हो जाती. हमारा सब कुछ तबाह हो गया लेकिन इन जवानों ने हमे सुरक्षित बचा लिया. ये हमारे लिए भगवान हैं.

आपको बता दें कि महाराष्ट्र के सांगली और कोल्हापुर जिले में तेज बारिश और बाढ़ ने भारी तबाही मचाई है. बीते कई दिनों से ऐसे इलाकों में लगातार तेज बारिश हो रही है. जिसकी वजह से आम जनजीवन बुरी तरह से प्रभावित हुआ इसके अलावा हजारों लोगों के घर पानी में डूब गए. बाजार दुकान सब कुछ पानी में डूब गया सड़कों पर नदियां बह रही थी.

लोग लोगों के घर, वाहन और जानवर भी पानी में बह रहे थे. इस तबाही में राहत और बचाव के काम में जुटे लोगों ने लाखों लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया. लेकिन इस तबाही में सैकड़ों लोगों की जान भी गई इसके अलावा कई लोग अब भी लापता हैं जो अपने परिवार से बिछड़ कर पानी में कहीं बह गए.

कुल मिलाकर अब बाढ़ की तबाही से भले ही राहत है. लेकिन पीछे छूटा हुआ है वह मातम जो अपनों से बिछड़ने का है घर की तबाही का है. अब ऐसे में उम्मीद की जाती है कि प्रशासन की मदद करेगा और इनके पुनर्वसन में वह अपनी अहम भूमिका निभाएगा.

Input your search keywords and press Enter.