fbpx
Now Reading:
1.7 करोड़ रुपये की व्हेल की उल्टी! मुंबई में दो शख्स गिरफ्तार, कुछ और लोगों की तलाश
Full Article 3 minutes read

1.7 करोड़ रुपये की व्हेल की उल्टी! मुंबई में दो शख्स गिरफ्तार, कुछ और लोगों की तलाश

व्हेल मछली की उल्टी बेचने आए 2 शख्स मुंबई पुलिस के हत्थे चढ़ गए। यह वाकया बीते मंगलवार (18 जून, 2019) की है। सबसे पहले यहां आपको बता दें कि व्हेल मछली की उल्टी ‘एम्बरग्रिस’ के नाम से जानी जाती है। व्हेल मछली की उल्टी वैक्स होती है जो काफी महंगी होती है। इस वैक्स का इस्तेमाल मंहगे परफ्यूम को बनाने में भी किया जाता है। मुंबई पुलिस ने इन दोनों लोगों को 1.3 किलोग्राम ‘एम्बरग्रिस’ के साथ पकड़ा है। जानकारी के मुताबिक पुलिस और वन विभाग की संयुक्त टीम ने इन दोनों युवकों को पकड़ा। सबसे पहले पुलिस ने जाल बिछाकर सबरबन विद्याविहार इलाके से 53 साल के एक युवक राहुल तुपारे को पकड़ा। इनके पास से मिले ‘एम्बरग्रिस’ की कीमत करीब 1.7 करोड़ रुपए आंकी गई है। राहुल यहां व्हेल मछली की उल्टी को बेचने आया था।

Related Post:  अज्ञात हमलवरों ने युवक को मारी गोली, यू-फ्लेक्स में सुपवाइजर के पद पर था तैनात

मुंबई में जोन 7 के डिप्टी कमिश्नर ऑफ पुलिस अखिलेश कुमार सिंह ने बताया कि तुपारे से पूछताछ के बाद पुलिस ने उसकी निशानदेही पर 44 साल के ललित व्यास को भी पकड़ा है। ललित व्यास गुजरात का रहने वाला है। ललित ने ही ‘एम्बरग्रिस’ राहुल को दिया था। इनसे मिले ‘एम्बरग्रिस’ को लैब में टेस्ट के लिए भेजा गया है।

पुलिस को अंदेशा है कि इस मामले में कई और लोग शामिल हो सकते हैं और यह एक बड़ा रैकेट हो सकता है। लिहाजा इस मामले में पुलिस अब यह पता लगाने में जुटी है कि पकड़े गए दोनों लोगों के अलावा इस गैरकानूनी काम में और कितने लोग शामिल हैं? इसकी जांच के लिए पुलिस की एक टीम भी बनाई गई है जिसे गुजरात भेजा गया है। दोनों युवकों की गिरफ्तारी वन्य जीव संरक्षण अधिनियम के तहत हुई है। यह एक्ट साफ तौर से कहता है कि किसी भी दुर्लभ जीव के शरीर का हिस्सा बेचना गैरकानूनी है।

Related Post:  मेरा दिव्यांश मुझे लौटा दो, मां की पुकार, पुलिस प्रशासन के खाली हाथ

क्या है एम्बरग्रिस?
‘एम्बरग्रिस’ Sperm Whale के पाचन क्रिया के दौरान बनता है। ऐसा माना जाता है कि यह ‘एम्बरग्रिस’ मछली के शरीर से उल्टी या मल द्वारा बाहर आता है। इसे समुद्र में बहता हुआ सोना भी कहा जाता है। ‘एम्बरग्रिस’ हासिल करना काफी कठिन काम है। ज्यादातर खाड़ी के देशों में ‘एम्बरग्रिस’ बेचा जाता है जहां इसके बदले मोटी रकम मिलती है। कई बार ‘एम्बरग्रिस’ के चक्कर में मछुआरे व्हेल मछली को मार भी देते हैं। Sperm Whale को साल 1970 में दुर्लभ जीव घोषित किया गया था। बता दें कि पिछले साल ठाणे पुलिस ने 2 करोड़ रुपए मूल्य की व्हेल की उल्टी के साथ तीन लोगों को पकड़ा था। हालांकि उस समय इन लोगों ने दावा किया था कि उन्हें रत्नागिरी के समुद्र में यह उल्टी तैरती हुई मिली थी।

Related Post:  बुलंदशहर: छेड़छाड़ का विरोध करने पर चढ़ाई गाड़ी, 2 दलित महिलाओं की मौत
Input your search keywords and press Enter.