fbpx
Now Reading:
Nobel Prize 2019: लीथियम आयन बैटरी विकसित करने वाले 3 वैज्ञानिकों को मिलेगा रसायन का नोबेल
Full Article 3 minutes read

Nobel Prize 2019: लीथियम आयन बैटरी विकसित करने वाले 3 वैज्ञानिकों को मिलेगा रसायन का नोबेल

Nobel prize in chemistry 2019

रसायन के क्षेत्र में साल 2019 का नोबेल पुरस्कार अमेरिका के जॉन वी. गुडइनफ, ब्रिटेन के स्टैनली विटिंघम और जापान के अकीरा योशिनो को दिया जाएगा. साथ ही 97 वर्ष के गुडइनफ नोबेल पुरस्कार जीतने वाले वाले सबसे उम्रदराज वैज्ञानिक बन गए हैं. उनसे पहले साल 2018 में 96 वर्ष के आर्थर अश्किन को नोबेल दिया गया था.

खास बात ये है कि तीनों वैज्ञानिकों को लीथियम आयन बैटरी के विकास में अहम योगदान  के लिए चुना गया है ये इन वैज्ञानिकों के ही अथक प्रयास का नतीजा है कि लीथियम आयन बैटरी की क्षमता दोगुनी हो पाई. जोकि आजकल मोबाइल फोन, लैपटॉप और इलेक्ट्रॉनिक वाहनों में इस्तेमाल होती है.

नोबल पुरस्कार की घोषणा करने वाली जूरी ने कहा, “जॉन बी. गुडइनफ, एम स्टैनली विटिंगघम और अकीरा योशिनो को इस साल के लिए रसायन का नोबेल पुरस्कार दिए जाने से काफी उत्साहित हूं. लीथियम आयन बैटरी ने पोर्टेबल डिवाइस के इतिहास में क्रांतिकारी बदलाव लाया है. यह अगली पीढ़ी के इलेक्ट्रॉनिक वाहनों के विकास में अहम भूमिका निभाएगा. रसायन के लिए यह पुरस्कार लंबे समय से दिया जा रहा है और इस क्षेत्र को अधिक पहचान मिलने से खुशी होती है.”

Related Post:  नोबेल पुरस्कार पाने पर अभिजीत बनर्जी ने कहा- गरीबी पर किए गए काम को पहचान मिलने से खुश हूं

गौरतलब है कि  साल 1901 लेकर 2018 तक रसायन के क्षेत्र में अब तक कुल 110 पुरस्कार दिए जा चुके हैं. जो कि 181 लोगों को मिला है. जबकि साल 1916, 1917, 1919, 1924, 1933,1940, 1941 और 1942 में इस पुरस्कार की घोषणा नहीं की गई. तो वहीं अब तक 5 महिलाओं को रसायन का नोबेल दिया जा चुका है. मैडम मैरी क्यूरी साल 1911 में यह पुरस्कार जीता था,हालाकिं उन्हें साल 1903 में भौतिकी का भी नोबेल मिल चुका था.

Related Post:  नोबेल पुरस्कार पाने पर अभिजीत बनर्जी ने कहा- गरीबी पर किए गए काम को पहचान मिलने से खुश हूं

रसायन के क्षेत्र में नोबल पुरस्कार जीतने वाले फ्रेडरिक जोलियट सबसे युवा वैज्ञानिक थे. उन्होंने 35 साल की उम्र में यह पुरस्कार हासिल किया था. तो वहीं सबसे उम्रदराज पुरस्कार विजेता जॉन वी. गुडइनफ को 2019 के लिए नोबेल पुरस्कार के लिए चुना गया है.

आपको बता दें कि नोबेल पुरस्कार के विजेताओं को साढ़े चार करोड़ रुपए की राशि दी जाती है. साथ ही 23 कैरेट सोने से बना 200 ग्राम का मेडल और प्रशस्ति पत्र भी दिया जाता है. मेडल के एक तरफ नोबेल पुरस्कार के जनक अल्फ्रेड नोबेल की छवि, उनके जन्म तथा मृत्यु की तारीख लिखी होती है.जबकि दूसरी तरफ यूनान की आइसिस का चित्र, रॉयल एकेडमी ऑफ साइंस स्टॉकहोम और  पुरस्कार पाने वाले व्यक्ति की जानकारी अंकित होती है.

Input your search keywords and press Enter.