fbpx
Now Reading:
UIDAI के कहने पर बंद हुई आधार से जुड़ी ये सेवा! आम आदमी पर होगा असर
Full Article 2 minutes read

UIDAI के कहने पर बंद हुई आधार से जुड़ी ये सेवा! आम आदमी पर होगा असर

aadhar card

आधार से जुड़ी एक बड़ी सर्विस को बंद कर दिया गया है. डेटा रिपॉजिटरी NSDL (National Securities Depository Limited) ने गुरुवार मध्यरात्रि से आधार के जरिए ई-साइन करने की सुविधा को बंद कर दिया है. NSDLने यह कदम UIDAI की तरफ से जारी निर्देश के बाद लिया है. टाइम्स ऑफ इंडिया ने अपनी एक रिपोर्ट में इस बारे में जानकारी दी है. इस रिपोर्ट में NSDL द्वारा जारी किए गए आंतरिक सर्कुलर के बारे में भी कहा गया है.

सूत्रों के मुताबिक, इस तरह के मामलों के सुधार के लिए NSDL ने UIDAI से बात किया था. NSDL के एक सूत्र के हवाले से इस रिपोर्ट में कहा गया, ‘इं​डस्ट्रियलिस्ट्स, ​इन्वेस्टर्स और स्टार्टअप्स और बिजनेस के मालिकों की सहायता के लिए ई-साइन को लेकर आया गया था. इसके बाद हर किसी पार्टी को डॉक्यूमेंट्स और रिकॉर्ड्स के लिए मौजूद नहीं रहना होता है. संस्थापक और को-फाउंडर्स बिना मौजूदगी के भी अपनी सहमति दे सकते हैं. बैंकों के लिए भी यह काम आता है.’

ई-साइन एक तरह का ऑनलाइन इलेक्ट्रॉनिक सिग्नेचर सर्विस है, जिसकी मदद से आधार होल्डर डॉक्यूमेंट्स को डिजिटल माध्यम से साइन करता है. इस तरह के ई-सिग्नेचर सर्विस को डिजिटल ट्रांजैक्शन और​ वेरिफिकेशन को बढ़ावा देने के लिए लाया गया था. लेकिन, बीते कुछ समय से NSDL को डेटा इंटीग्रेट करने से लेकर वेरिफिकेशन तक में परेशानियां होती थीं.

आधार की टोकेनाइजेशन भी ई-साइन की प्रक्रिया में रोड़ा बन रहा था. इस रिपोर्ट में लिखा गया है कि जब यह डर था कि 12 अंक वाला आधार नंबर अवैध तरीके से इस्तेमाल किया जा सकता है, तब 16 अंक के आधार टोकेनाइजेशन सिस्टम (Aadhaar Tokenisation System) लाने की बात कही गई थी. लेकिन, इस ऐलान के करीब एक साल बाद इस मोर्चे पर कोई काम नहीं किया गया. इस प्रकार ई-साइन दोहरे ऑथेन्टिकेशन सिस्टम (Two Way Authentication System) के तौर पर काम करने के लिए बनाया गया था. इसमें 12 अंकों का आधार नंबर और 16 अंकों वाला टोकन शमिल होता, जिसे ओटीपी के माध्यम से भेजा प्राप्त किया जाता.

Input your search keywords and press Enter.