fbpx
Now Reading:
ममता के बंगाल में मोदी का बयान, दीदी का थप्पड़ भी होगा आशीर्वाद
Full Article 3 minutes read

ममता के बंगाल में मोदी का बयान, दीदी का थप्पड़ भी होगा आशीर्वाद

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पश्चिम बंगाल के बांकुरा में ममता बनर्जी पर जमकर निशाना साधा. पीएम ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री पर संविधान के अपमान करने का आरोप लगाते हुए फानी तूफान के मुद्दे पर राज्य सरकार को आड़े हाथों लिया.
ममता सरकार पर हल्ला बोलते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि ममता बनर्जी ने पहले सत्ता के नशे में बंगाल को बर्बाद किया और अब सत्ता जाने के डर से तबाह करने में तुली हैं.

प्रधानमंत्री ने कहा कि दीदी, बौखलाहट में देश के संविधान का इस्तेमाल कर रही हैं. अब वो प्रधानमंत्री को प्रधानमंत्री मानने के लिए तैयार नहीं हैं, लेकिन पाकिस्तान के पीएम को पीएम मानने में उन्हें गौरव होता है. बंगाल में जब ‘फानी’ तूफान आया तो मैंने उन्हें दो बार फोन किया और उन्होंने मेरा फोन नहीं उठाया.

पीएम मोदी ने कहा कि ममता बनर्जी को अब मां, माटी और मानुष नहीं बल्कि कुर्सी-भतीजे और टोलेबाजों की परवाह है. उन्होंने कहा कि दीदी की बैखलाहट का अंदाजा उनके भाषणों से लगाया जा सकता है. वो मेरे लिए पत्थर और थप्पड़ की बात करती हैं लेकिन मुझे तो गालियों की आदत है.बांकुरा के साथ ही पुरुलिया में भी प्रधानमंत्री मोदी ने ममता बनर्जी की जमकर खबर ली. ममता के थप्पड़ वाले बयान पर उन्होंने कहा कि वो मोदी को थप्पड़ मारना चाहती हैं, लेकिन मैं तो कहता हूं मैं वो भी खाने को तैयार हूं. आपका थप्पड़ मेरे लिए आशीर्वाद जैसा है.

ममता बनर्जी पर हमलावर होते हुए पीएम ने कहा कि 23 मई के बाद ममता दीदी की सत्ता का पतन होना शुरू हो जाएगा. उनका अहंकार ही उन्हें ले डूबेगा. इस मौके पर पीएम ने कहा कि टीएमसी की सरकार ऐसी सरकार है, जहां पर भगवान का नाम लेने वाला भी परेशान है.प्रधानमंत्री ने कहा कि मोदी को दीदी के गुस्से की जनता नहीं है, क्योंकि देशवासी मोदी के साथ हैं. पीएम ने कहा कि दीदी को उन राम भक्तों, सरस्वती भक्तों और दुर्गा भक्तों की चिंता करनी चाहिए, जिनको वह पूजा नहीं करने दे रही हैं. उन्होंने कहा कि दीदी के दिल में घुसपैठियों और विदेशी कलाकारों के लिए ममता है लेकिन हमारे आदिवासियों के लिए नहीं है.

गौतरलब है कि पश्चिम बंगाल में बीजेपी ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है. पार्टी की कोशिश राज्य में अपना खोया हुआ जनाधार वापस पाने की है. ऐसे में बीजेपी और टीएमसी के बीच कड़ा मुकाबला देखने को मिल रहा है.

Input your search keywords and press Enter.