fbpx
Now Reading:
PMC बैंक घोटाला : सारंग वाधवान और राकेश वाधवान गिरफ्तार, 2,145.8 करोड़ की हेराफेरी का आरोप
Full Article 2 minutes read

PMC बैंक घोटाला : सारंग वाधवान और राकेश वाधवान गिरफ्तार, 2,145.8 करोड़ की हेराफेरी का आरोप

PMC bank Scam

पीएमसी बैंक घोटाले में पुलिस ने सारंग वाधवान और राकेश वाधवान गिरफ्तार किया है. मिली जानकारी के मुताबिक पीएमसी बैंक की खस्ता हालत के लिए जिम्मेदार 44 बड़े खातो में 10 खाते एचडीआईएल और वाधवान से जुड़े हुए हैं. इन खातों में एक सारंग वाधवान और दूसरा राकेश वाधवान का निजी खाता है.

बताया जा रहा है कि पुलिस ने दोनों को पूछताछ के लिए बुलाया  था,लेकिन जांच में सहयोग न करने पर उन्हें  गिरफ्तारी कर लिया गया. दरअसल मुंबई पुलिस पीएमसी बैंक के लगभग 4,635.6 करोड़ रुपये के लोन मामले की जांच कर रही है. एफआईआर के मुताबिक सारंग वाधवान और  राकेश वाधवान को 2,145.8 करोड़ रुपये की रकम ट्रांसफर की गई थी. आरोप है कि बैंक के अधिकारियों और एचडीआईएल  ग्रुप के प्रमोटरों ने मोटी रकम के बकाया वाले 44 लोन खातों को कम इंडिविजुअल बैलेंस वाले 21,049 फर्जी खातों से रिप्लेस कर दिया था.

इससे पहले बीते 24 सिंतबंर को आरबीआई ने पीएमसी बैंक के कामकाज और  बैंक द्वारा नया कर्ज देने पर छह महीने की पाबंदी लगा दी थी. साथ ही बैंक के खाता धारकों के लिये निकासी की सीमा 1,000 रुपये तय कर दी थी. हालाकिं बाद में उसे बढ़ाकर 10,000 रुपये कर दिया गया.

सूत्रों का कहना है कि बैंक की हार्डशिप कमेटी आरबीआई से मंजूरी लेकर खाता धारकों को ज्यादा रकम दे सकती है. लेकिन इसके लिए उन्हें पीएमसी बैंक की हार्डशिप कमेटी से मंजूरी लेनी होगी. जिसके बाद वे गंभीर बीमारी, शादी, एवं जरूरी खर्चों के लिए पैसे निकाल सकते हैं.

गौरतलब है कि पीएमसी बैंक पर लगे प्रतिबन्ध के बाद लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा था. जिनमें से कई लोग ऐसे भी थे जो घर में शादी या फिर बीमारी के इलाज के लिए खाते से अपना पैसा नहीं निकाल पा रहे थे.

Input your search keywords and press Enter.