fbpx
Now Reading:
जानिए आखिर कौन है वह शख्स जो बनना चाहता है कांग्रेस अध्यक्ष ?

जानिए आखिर कौन है वह शख्स जो बनना चाहता है कांग्रेस अध्यक्ष ?

2019 लोकसभा चुनावों में मिली करारी हार के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने इस्तीफा दे दिया है. ऐसे में पार्टी नए कांग्रेस अध्यक्ष ने नाम पर विचार कर रही है. हालांकि अभी तक किसी के नाम पर भी मुहर नहीं लगी है. तो वहीं दूसरी तरफ पुणे के एक इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियर ने कांग्रेस अध्यक्ष बनने की इच्छा जताई है.

मिली जानकारी के मुताबिक पुणे के रहने वाले गजानंद होसले आगामी 23 जुलाई को कांग्रेस की शहर इकाई के अध्यक्ष रमेश बागवे से मिलकर कांग्रेस अध्यक्ष पड़ के लिए आवेदन करने के बारे में सोच रहे हैं. गजानंद होसले पुणे में एक मैन्युफैक्चरिंग फर्म में मैनेजर के तौर पर काम करते हैं. दरअसल गजानंद होसले का कहना है कि ‘राहुल गांधी कांग्रेस के अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने के अपने फैसले पर अड़े हैं. पार्टी इस बात को लेकर असमंजस में है कि किसे नया पार्टी प्रमुख नियुक्त किया जाए और ऐसे में मैं इस पद के लिए अपना नामांकन दाखिल करना चाहता हूं.’

Related Post:  महाराष्ट्र में नेताओं में भागम भाग- NCP को बड़ा झटका कई विधायक और दर्जन भर पार्षद, BJP में शामिल

उन्होंने कहा, ‘मंगलवार को अध्यक्ष पद के लिए आवेदन करने से पहले मैं पार्टी की प्राथमिक सदस्यता की प्रक्रिया पूरी कर लूंगा.’ वहीं जब उनसे पूछा गया कि वह पार्टी ज्वाइन कर एक कार्यकर्ता के रूप में काम करना क्यों नहीं शुरू करते हैं, तो उन्होंने कहा कि एक साधारण कार्यकर्ता या नेता के रूप में काम करने पर पार्टी के अंदर दरकिनार किया जा सकता है. इसके साथ ही गजानंद होसले का कहना है कि अगर मैं पार्टी अध्यक्ष बन पाया तो कांग्रेस के अंदर पारदर्शिता लाने पर मेरा जोर रहेगा और यदि मौका मिला तो मुझे पूरा भरोसा है कि मैं पार्टी को मौजूदा संकट से उबारकर नई जान फूंक पाऊंगा. इसके लिए मेरा पास ब्लूप्रिंट तैयार है.

Related Post:  सरकारी जमीन की अवैध खरीदारी: धनंजय मुंडे की याचिका पर न्यायालय शुक्रवार को करेगा सुनवाई

गौरतलब है कि बीते 25 जून को राहुल गांधी ने कहा था कि अब कांग्रेस का अध्यक्ष नहीं हूं. पार्टी को अपना नया अध्यक्ष चुन लेना चाहिए. साथ ही उन्होंने कांग्रेस के नेताओं को हार की जिम्मेदारी स्वीकार करने को भी कहा था. दरअसल राहुल गांधी का कहना था कि मुझे इसी बात का दुख है कि मेरे इस्तीफे के बाद किसी मुख्यमंत्री, महासचिव या प्रदेश अध्यक्षों ने हार की जिम्मेदारी लेकर इस्तीफा नहीं दिया.

Related Post:  डीके शिवकुमार फिर बने कांग्रेस के संकटमोचक, मुलाकात के बाद कांग्रेस के बागी विधायक के तेवर हुए नरम
Input your search keywords and press Enter.