fbpx
Now Reading:
जेएनयू में बिहारी छात्र से रैगिंग, पीएचडी स्काॅलर ने मारा थप्पड़, कान पकड़ कराई उठक-बैठक
Full Article 2 minutes read

जेएनयू में बिहारी छात्र से रैगिंग, पीएचडी स्काॅलर ने मारा थप्पड़, कान पकड़ कराई उठक-बैठक

दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी (जेएनयू ) में रैगिंग का मामला सामने आया हैं. दरअसल यूनिवर्सिटी के सेंटर ऑफ जर्मन स्टडीज के एक छात्र का आरोप है कि बीते 18 जुलाई को एक पीएचडी स्काॅलर ने ना सिर्फ उसके साथ मारपीट की बल्कि काम पकडकर उठक बैठक भी करवाई. हालाकिं शिकायत दर्ज कराए जाने के बड़ा भी अब तक आरोपी के खिलाफ कोई कार्रवाही नहीं हुई है.

मामले का खुलासा उस समय हुआ जब पीड़ित जेएनयू की एंटी रैगिंग कमेटी और वसंत कुंज उत्तर थाना पुलिस में शिकायत दर्ज कराने पहुंचा. तो वहीँ कुछ लोगों का कहना है कि बिहार से होने के नाते उसके साथ रैगिंग की गई है.

जानकारी के मुताबिक पीड़ित छात्र ने जेएनयू के सेंटर ऑफ जर्मन स्टडीज के बीए के कोर्स में 10 जुलाई को दाखिला लिया था. तो वहीं दाखिले के 8 दिन बाद यानी 18 जुलाई को सेंटर ऑफ इंग्लिश स्टडीज के एक पीएचडी छात्र ने अपने दोस्तों के साथ मिलकर पीड़ित से बदसलूकी की. इस दौरान उन्होंने पीड़ित के घर का पता पूछा, लेकिन जब उन्हें पता चला कि वह बिहारी है तो आरोपी उसे गाली देने लगा. इसके साथ ही आरोपी ने उसे धमकाते हुए कहा कि ‘ठीक से रहा करो यह दिल्ली है’ और पीड़ित को थप्पड़ भी मारे.

लेकिन बात यहीं ख़त्म नहीं हुई आरोपी ने पीड़ित छात्र से उठक बैठक भी करवाई और अगली बार मिलने पर नाक रगड़कर प्रणाम करने को कहा. गौरतलब है कि इस मामले को लेकर पीड़ित छात्र ने 20 जुलाई को मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल, नित्यानंद राय और जेएनयू के वीसी को टैग करते हुए कार्रवाही की मांग की थी.

Input your search keywords and press Enter.