fbpx
Now Reading:
अलवर गैंगरेप केस: पुलिस ने 6 आरोपियों के खिलाफ कोर्ट में पेश की चार्जशीट, फास्ट ट्रैक में चलेगा मामला

अलवर गैंगरेप केस: पुलिस ने 6 आरोपियों के खिलाफ कोर्ट में पेश की चार्जशीट, फास्ट ट्रैक में चलेगा मामला

राजस्थान के अलवर में हुए गैंगरेप केस में पुलिस ने महज़ 10 दिन के भीतर अपनी जांच पूरी कर, 6 आरोपियों के खिलाफ कोर्ट में चार्जशीट दाखिल कर दी है। पुलिस ने शनिवार को आरोपियों के खिलाफ विशिष्ट न्यायाधीश एससी-एसटी कोर्ट अलवर में चार्जशीट पेश कर दी है। अब इस मामले में सुनवाई 30 मई को होगी। पुलिस ने अपनी चार्जशीट में करीब 400 पेज में साक्ष्य, बयान और अन्य दस्तावेज पेश किए हैं।

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक चिरंजीलाल ने बताया, ”आरोप पत्र दाखिल कर दिया गया है।” इस मामले में इंद्राज, अशोक, छोटेलाल, महेश व हंसराज के खिलाफ सामूहिक दुष्कर्म व एससी-एसटी कानून के तहत मामला दर्ज है, जबकि मुकेश गुर्जर के खिलाफ आईटी कानून के तहत मामला दर्ज किया गया है।

Related Post:  बिन मुखिया की कांग्रेस को नहीं मिल रहा अध्यक्ष, 22 जुलाई तक टली CWC की बैठक

उल्लेखनीय है कि अलवर जिले के थानागाजी थाना क्षेत्र में 26 अप्रैल को अपने पति के साथ मोटर साइकिल पर जा रही एक दलित महिला से पांच लोगों ने सामूहिक दुष्कर्म कर उसका वीडियो बनाया। मामला दर्ज होने में कथित देरी को लेकर पुलिस व राज्य सरकार की काफी आलोचना हो रही है। पुलिस दुष्कर्म करने के पांचों आरोपियों व वीडियो को सोशल मीडिया पर डालने के एक आरोपी को पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है।

Related Post:  BJP की जीत के बाद RSS को आयी राम की याद, मोहन भागवत बोले- अब राम का काम हो कर रहेगा

थानागाजी दुष्कर्म पीड़िता और उसके परिवार से मिले थे राहुल गांधी
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी 16 मई को राजस्थान के अलवर जिले के थानागाजी पहुंच सामूहिक दुष्कर्म पीड़िता एवं उसके परिजन से मुलाकात की थी। राहुल गांधी ने कहा था कि इस तरह की घटनाओं को ‘बर्दाश्त’ नहीं किया जाएगा और पीड़िता को जल्द न्याय मिलेगा। राहुल लगभग 15 मिनट तक पीड़िता और उसके परिवार के साथ रहे और शीघ्र न्याय का आश्वासन दिया। राहुल के साथ मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट भी थे।

Related Post:  साध्वी के 'नाली और शौचालय' वाले बयान पर भड़की बीजेपी, जेपी नड्डा ने लगाई फटकार

इस मामले को राजनीतिक रंग दिए जाने के सवाल पर राहुल ने कहा, ”जैसे ही मैंने यह बात सुनी, मैं यहां आना चाहता था। मेरे लिए यह राजनीतिक मुद्दा नहीं है, मेरे लिए यह भावनात्मक बात है। एक लड़की के साथ गलत हुआ है… केवल राजस्थान या अलवर ही नहीं, हिंदुस्तान में हमें यही संदेश देना है कि जो हमारी बहनें हैं, माताएं हैं उनके साथ ऐसा बर्ताव कतई बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। उन्होंने कहा था, ”पीड़िता को न्याय मिलेगा और जो भी जिम्मेदार व्यक्ति हैं उनके खिलाफ कार्रवाई होगी।”

Input your search keywords and press Enter.