fbpx
Now Reading:
ट्रिपल मर्डर से दहला पश्चिम बंगाल , मुर्शिदाबाद में RSS स्वयंसेवक की गर्भवती पत्नी और बेटे समेत हत्या
Full Article 3 minutes read

ट्रिपल मर्डर से दहला पश्चिम बंगाल , मुर्शिदाबाद में RSS स्वयंसेवक की गर्भवती पत्नी और बेटे समेत हत्या

/rss-leader-and-his-family-killed-in-murshidabad

पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद जिले के जियागंज थाना क्षेत्र के लेबुतल्ला इलाके में एक ही परिवार के तीन लोगों की हत्या कर दी गई है. मृतकों की पहचान पेशे से शिक्षक बंधुप्रकाश पाल, ब्यूटी पाल और अंकन पाल के रूप में हुई है.

घटना मुर्शिदाबाद जिले के जियागंज थाना क्षेत्र के कांजीगंज इलाके की है. जहां दशहरा के दिन एक घर से तीन लाशें मिलने पर हड़कंप मच गया. मिली जानकारी के मुताबिक मृतक बंधु प्रकाश सागरदिघी इलाके के रहने वाले थे. लेकिन स्कूल और  कार्यस्थल और घर के बीच ज्यादा दूरी होने की वजह से वे बीते  5 साल से अपनी पत्नी और बेटे के साथ लेबुतल्ला इलाके में किराए के मकान में रह रहे थे. दशहरे की छुट्टियाँ होने के चलते पीछे कई दिनों से वे घर पर ही थे.

बताया रहा है कि  दशहरे के दिन वे अपने बेटे के साथ बाजार गए थे. उनके घर लौटने के कुछ घंटे बाद पड़ोसियों ने उनके घर से चिल्लाने की आवाज सुनी तो वे तुरंत उनके घर की तरफ दौड़े. लेकिन घर के अन्दर का मंजर देखकर पड़ोसियों के होश उड़ गए. उन्होंने देखा कि एक कमरे में बंधुप्रकाश और ब्यूटी लहूलुहान तड़प रहे थे, तो वहीं दूसरी तरफ उसका बेटा अंकन खून से लथ-पथ पड़ा था. जिसके बाद पड़ोसियों ने पुलिस को सूचना दी. साथ ही यह भी बताया कि जब वे बंधुप्रकाश  के घर पहुंचे तो उस वक्त एक युवक को घर के अंदर से निकलकर भागते हुए देखा था. जिसे पुलिस सरगर्मी से तलाश कर रही है. हालाकिं कि अभी तक उसकी गिरफ़्तारी नहीं हो पाई है.

तो वहीं दूसरी तरफ इस हत्याकांड के 36 घंटे बाद आरएसएस ने बड़ा खुलासा किया है. आरएसएस का कहना है कि मृतक बंधु प्रकाश पाल स्वयं सेवक था. पश्चिम बंगाल के आरएसएस महासचिव जिस्नु बसु ने कहा कि हमें लगता है ये राजनीतिक हत्या नहीं है, लेकिन पुलिस अभी तक आरोपियों को गिरफ्तार करने में असफल रही है. हम फॉरेंसिक रिपोर्ट का इंतजार कर रहे हैं.

जहां एक तरफ  पुलिस इस मामले को आपसी रंजिश  और संपत्ति विवाद से जोड़कर देख रही है तो वहीं स्थानीय लोगों ने इस हत्या के पीछे किसी करीबी व्यक्ति का हाथ होने का शक जाहिर किया है. हालांकि कुछ लोगों इसे राजनीतिक हत्या करार दे रहे हैं. साथ ही मामले की जांच सीबीआई से कराए जाने की मांग की है.बंधु प्रकाश के करीबियों का दावा है कि शिक्षक आरएसएस के सक्रिय समर्थक थे.ऐसे में राजनीतिक कारणों से उनकी हत्या को नजरंदाज नहीं किया जा सकता.

Input your search keywords and press Enter.