fbpx
Now Reading:
मृतक की पहचान छिपाने के लिए काटा प्राइवेट पार्ट,गले में डाली माला, इस सुराग से हुई पहचान, पकड़े गए कातिल

मृतक की पहचान छिपाने के लिए काटा प्राइवेट पार्ट,गले में डाली माला, इस सुराग से हुई पहचान, पकड़े गए कातिल

इंदौर: मध्यप्रदेश के इंदौर में हत्या की एक ऐसी घटना सामने आयी है जहां सलमान का अपहरण पुलिस के लिए अनसुलझी गुत्थी बनकर रह गया था लेकिन एक दिन जंगल में एक विक्षिप्त शव मिला और हत्या की रहस्य्मयी गुत्थी कई उलझनों के बावजूद सुलझ गई।
हत्यारे ने लाश के साथ जो कुछ भी हुआ उसे देखकर पहली नजर में तो ऐसा लगा कि हत्यारा बेहद क्रूर था इसी वजह से उसने ऐसा किया होगा। लेकिन जैसे-जैसे पुलिस इस केस को सुलझाने के करीब पहुंची पता चला कि शव के साथ क्रूरता किये जाने के पीछे थी एक रहस्यमयी चाल।
इंदौर के रहने वाले तौकीर शेख ने चंदननगर थाने में अपने छोटे भाई सलमान शेख के गायब होने की एक रिपोर्ट दर्ज करवाई। उस वक्त तौकीर शेख ने पुलिस के सामने शक जाहिर किया था कि हो सकता है कि उनके घर के सामने रहने वाले रऊफ खान और उसके ड्राइवर सद्दाम ने उनके भाई को गायब किया हो।

सलमान शेख भी रऊफ के यहां काम करता था। रऊफ खान विधानसभा का चुनाव भी लड़ चुका था और उसकी पहुंच भी काफी ऊपर तक मानी जाती थी। जाहिर है रऊफ के खिलाफ पुलिस के पास कोई सबूत नहीं थे लिहाजा वो इस मामले में रऊफ पर कार्रवाई से कतरा रही थी। इधर अगले दिन 10 जनवरी को धरमपुरी थाने की पुलिस को बेंट संस्थान के जगंलों में एक लाश पड़ी होने की खबर मिली।

Related Post:  रवि किशन ने केक खिलाकर यूपी पुलिस को किया धन्यवाद, कहा चुनाव में मदद के लिए हूं शुक्रगुज़ार 
मौके पर पहुंचते ही पुलिस ने छानबीन की तो पता चला कि शव का सिर काफी क्षत-विक्षत था और उसका प्राइवेट पार्ट को भी हत्यारे ने काट दिया था। पुलिस को लाश की जेब से डायरी और कुछ कागज मिले लेकिन इससे लाश की शिनाख्त नहीं हो सकी। चूकि मरने वाले के गले में माला था लिहाजा पुलिस ने अंदाजा लगाया कि यह किसी हिंदू की लाश है और फिर बाद में उसे पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया गया। पुलिस को मरने वाले की जेब से लड़का-लड़की की तस्वीर भी मिली थी लिहाजा पुलिस इसे प्रेम प्रसंग में हुई हत्या मान रही थी।

Related Post:  लाहौर एयरपोर्ट में हथियार के साथ घुसे दो संदिग्ध, ताबड़तोड़ फायरिंग में दो लोगों की मौत

धरमपुरी थाने ने जब चंदनगर थाने को लाश मिलने की बात बताई तो थानाप्रभारी को कुछ शक हुआ और उन्होंने तुरंत सलमान के पिता को लाश की शिनाख्त करने के लिए बुलाया। मरने वाले की ऊंगली में अंगूठी को देखकर सलमान के पिता ने अपने बेटे की पहचान कर ली। लेकिन अब यह केस और भी उलझ गया था और कई सवाल भी खड़े हो गए थे। मसलन – सलमान के गले में माला क्यों डाली गई? उसकी जेब से मिली तस्वीरें किसकी हैं? हत्यारे ने उसका गुप्तांग क्यों काटा? और सबसे बड़ा सवाल यह कि आखिर किसी ने उसे क्यों मारा?

इधर इस केस को सुलझाने में लगी पुलिस को अपने मुखबिर से सूचना मिली की सलमान को अंतिम बार रऊफ के ड्राइवर के साथ देखा गया था। इसके बाद पुलिस ने जब सलमान के नंबर का कॉल डिटेल निकलवाया तो पता चला कि सलमान ने रऊफ की पत्नी शबनम से कई बार बातचीत की है।

Related Post:  AMU से पढ़ा लिखा जोड़ा करता था हत्या और लूट, फेसबुक पर मिले और मिलकर करने लगे अपराध!

अब पुलिस ने शबनम और सद्दाम को हिरासत में लेकर अलग-अलग पूछताछ शुरू की। इस पूछताछ में कई खुलासे हुए और एक मर्डर मिस्ट्री सुलझ गई। शबनम ने पुलिस को बताया कि सलमान का अक्सर उसके घर आना-जाना था। घर में ही उसके और सलमान के बीच धीरे-धीरे बातचीत बढ़ी और फिर दोनों के बीच जिस्मानी रिश्ते भी बन गए। सद्दाम ने पुलिस को बताया कि इन दोनों के बीच के इस अफेयर की खबर रऊफ को लग गई और फिर रऊफ ने सलमान को ठिकाने लगाने के लिए भयानक प्लान बनाया।

सलमान की लाश पहचानी ना जा सके इसके लिए इन सब ने ईंट से उसका सिर बुरी तरह कुचल दिया। इन सभी ने मिलकर उसके कपड़े उतारे और उसका प्राइवेट पार्ट काट दिया ताकि उसका धर्म पहचान में ना आए। इतना ही नहीं इनलोगों ने उसके गले में माला डाला और पुलिस को भटकाने के लिए उसकी जेब में किसी अनजान लड़का-लड़की की तस्वीर भी डाल दी।

Input your search keywords and press Enter.