fbpx
Now Reading:
मनमोहन के बाद सोनिया, राहुल और प्रियंका गांधी की SPG  सुरक्षा हटेगी ! अमित शाह का फैसला
Full Article 2 minutes read

मनमोहन के बाद सोनिया, राहुल और प्रियंका गांधी की SPG  सुरक्षा हटेगी ! अमित शाह का फैसला

 

नई दिल्ली: सरकार गांधी परिवार को जो एसपीजी (स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप) की सुरक्षा मिली हुई है उसे अब हटा लिया जाएगा. अब उन्हें एसपीजी की जगह सीआरपीएफ की जेड प्लस सुरक्षा जी जाएगी. सूत्रों के मुताबिक गृह मंत्रालय की उच्च स्तरीय बैठक में ये फैसला लिया गया. इससे पहले पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की सुरक्षा से भी एसपीजी कवर हटाकर सीआरपीएफ की जेड प्लस कैटेगरी की सुरक्षा दी गई थी.
क्या हैSPG सुरक्षा ?
यह देश में सबसे ऊंचे स्तर की सुरक्षा है जो वर्तमान प्रधानमंत्री और पूर्व प्रधानमंत्री और उनके परिवार के सदस्यों को दी जाती है. SPG देश के सबसे जांबाज सिपाही कहे जाते हैं. विशेष सुरक्षा दल (Special Protection Group- SPG) 2 जून, 1988 में भारत की संसद के एक अधिनियम द्वारा बनाया गया था.
इसका मुख्यालय नई दिल्ली में स्थित है. यह केंद्र का विशेष सुरक्षाबलों में से एक है. इन जवानों का चयन पुलिस, पैरामिलिट्री फोर्स (BSF, CISF, ITBP, CRPF) से किया जाता है. यह बल गृह मंत्रालय के अधीन है. SPG देश की सबसे पेशेवर एवं आधुनिकतम सुरक्षा बलों में से एक है.

ये जवान एक फुली ऑटोमेटिक गन FNF-2000 असॉल्ट राइफल से लैस होते हैं. कमांडोज के पास ग्लोक 17 नाम की एक पिस्टल भी होती है. कमांडो अपनी सेफ्टी के लिए एक लाइट वेट बुलेटप्रूफ जैकेट भी पहनते हैं. SPG के जवान अपने आंखों पर एक विशेष चश्मा पहने रहते थे. इससे उनकी आखों को हमले से बचाया जाता है साथ ही वह किसी भी प्रकार का डिस्ट्रैक्शन नहीं होने देता हैं. आखिर में बता दें कि SPG एक हमलावर फोर्स नहीं बल्कि रक्षात्मक फोर्स है.

Input your search keywords and press Enter.