fbpx
Now Reading:
MP हनी ट्रैप में फंसे थे विधायक और एक पूर्व सांसद ने परेशान होकर की थी खुदकुशी की कोशिश
Full Article 3 minutes read

MP हनी ट्रैप में फंसे थे विधायक और एक पूर्व सांसद ने परेशान होकर की थी खुदकुशी की कोशिश

भोपाल. नेताओं और अफसरों को अपने हुस्न के जाल में फंसकर अश्लील वीडियो के जरिए ब्लैकमेल करने के मामले गुरूवार को पांच महिलाओं समेत 6 को गिरफ्तार किया गया है। अब इस मामले में बड़े बड़े खुलासे हो रहे है। इसी मामले से जुड़े एक पूर्व सांसद की आत्महत्या की कोशिश करने की बात भी सामने आई है। साथ ही एक मौजूदा विधायक को भीब्लेकमेल इन महिलाओं ने किया था।

इंदौर और भोपाल से गिरफ्तार महिलाओं को राजनेताओं, पूर्व मंत्री, विधायक और पूर्व सांसदों के साथ कई अफसरों के घरों पर अक्सर देखा गया। बताया जा रहा है कि इनमें से एक महिला के जाल में फंसकर एक पूर्व सांसद ने खुदकुशी कोशिश की थी, जिसके बाद उनकी पार्टी ने उन्हें विवाद से बाहर निकाला।

ये महिलाएं इंदौर नगर निगम के इंजीनियर हरभजन सिंह का एक छात्रा के साथ बनाया गया वीडियो वायरल करने की धमकी देकर 3 करोड़ रुपए की मांग कर रही थीं। निगम के इंजीनियर को ब्लैकमेल करने की एकमात्र एफआईआर से ही सबकुछ सामने आया है।

जांच पड़ताल में पता चला कि भोपाल की आरती पंकज दयाल की निगम इंजीनियर से दोस्ती थी। आरती ने नौकरी दिलाने के बहाने नरसिंहगढ़ की 18 साल की बीएससी छात्रा मोनिका लाल यादव की इंजीनियर से दोस्ती करवाई। फिर होटल में आरती ने मोबाइल फोन से दोनों का वीडियो बनाया।

वीडियो बनाने के बाद आरती और मोनिका इंजीनियर को ब्लैकमेल करने लगीं। ब्लैकमेलिंग का यह सिलसिला आठ महीनों से चल रहा था। इस दौरान इंजीनियर तीन बार पैसे भी दे चुके थे। इस बार तीन करोड़ की डिमांड आई तो इंजीनियर ने पुलिस में शिकायत दर्ज करा दी।

एसएसपी रुचिवर्धन मिश्र ने बताया कि हरभजन सिंह ने तीन दिन पहले पलासिया थाने में शिकायत दी थी, जिसके बाद पुलिस ने इन महिलाओं को फोन कर  50 लाख रु. की पहली किश्त लेने का लालच दिया। आरती, मोनिका और ड्राइवर ओमप्रकाश जब विजय नगर स्थित बीसीएम हाईट्स पहुंचे तो पुलिस ने इन्हें धरदबोचा।

राजनेताओं और अफसरों को ब्लैकमेल करने वाली हाईप्रोफाइल महिलाओं को मप्र की एंटी टेररिस्ट स्क्वाॅड (एटीएस) ने नहीं पकड़ा, बल्कि उनके संबंध में इनपुट मध्यप्रदेश की काउंटर इंटेलीजेंस ने इकट्ठा किए थे। इंदौर पुलिस की सूचना के बाद काउंटर इंटेलीजेंस की टीम ने भोपाल पुलिस की मदद से तीन महिलाओं को बुधवार को आराधना नगर, रिवेयरा टाउन और न्यू मिनाल रेसीडेंसी से गिरफ्तार किया।

 

इन महिलाओं के भाजपा-कांग्रेस के कई प्रभावशाली नेताओं से संबंध हैं। वल्लभ भवन में कुछ अधिकारियों के यहां श्वेता और स्वप्निल का सीधा आना-जाना है। श्वेता स्वप्निल जैन के संबंध भाजपा के तीन पूर्व मंत्रियों और इंदौर के एक पूर्व विधायक से हैं। वह रिवेयरा टाउनशिप में अभी पन्ना से भाजपा विधायक व पूर्व मंत्री बृजेंद्र प्रताप सिंह के डुप्लेक्स नंबर 48 में रहती है।

नीमच से भाजपा विधायक दिलीप सिंह परिहार ने बताया कि दो साल पहले श्वेता स्वप्निल ने सास-ससुर की तबीयत खराब बताकर मेरा डुप्लेक्स नंबर 126 किराए पर लिया था। बाद में उसने मकान खाली किया। इसी मकान में अभी भोपाल सांसद साध्वी प्रज्ञा रहती हैं। बताया जा रहा है कि आरोपी बरखा ने भोपाल में तीन करोड़ रु. में एक जमीन खरीदी है।

Input your search keywords and press Enter.