fbpx
Now Reading:
20 साल बाद गिरफ्तार हुआ ‘तेलंगाना का वीरप्पन’, 4 राज्यों में फैला था आतंक
Full Article 2 minutes read

20 साल बाद गिरफ्तार हुआ ‘तेलंगाना का वीरप्पन’, 4 राज्यों में फैला था आतंक

timber smuggler arrested

तक़रीबन दो दशक के लंबे इंतजार के बाद पुलिस ने ‘तेलंगाना के वीरप्पन’ के नाम से मशहूर येदला श्रीनिवास श्रिनु को गिरफ्तार कर लिया है. सिर्फ तेलंगाना ही नहीं ये सख्श आंध्रप्रदेश, छत्तीसगढ़ और महाराष्ट्र के जंगलों से बड़े पैमाने पर लकड़ी की तस्करी को अंजाम देता आ रहा था. पुलिस और वन विभाग को इसकी लंबे समय से तलाश थी.

पुलिस ने येदला श्रिनु को पुलिस ने उसे तेलंगाना के पेडापल्ली जिले से धर दबोचा है. तेलंगाना के जंगलों में लकड़ी की तस्करी करने वालों के खिलाफ यह पहली बड़ी कार्रवाई बताई जा रही है. अधिकारीयों का कहना है कि येदला श्री श्रिनु पिछले बीस सालों से तेलंगाना के जंगलों में चोरी छिपे लकड़ी की तस्करी में लिप्त था. जिससे मनचेरियल, मंथनी और चेन्नूर क्षेत्रों के जंगलों को खतरा पैदा हो गया था. अधिकारीयों के मुताबिक ज्यादातर एक अधिकारी का कहना है कि वह बीते बीस सालों से आरक्षित वनों से पेड़ों को गिरा रहा था। वह सबसे अधिक सागौन की तस्करी करने वाले इस सख्श का नेटवर्क तेलंगाना के अलावा आंध्रप्रदेश, छत्तीसगढ़ और महाराष्ट्र में भी फैला था.

रामगुंडम के पुलिस कमिश्नर वी सत्यनारायण ने बताया कि येदला श्रिनु के साथ उसके दो साथियों को भी गिरफ्तार किया गया है. येदला श्रिनु पर तस्करी से जुड़े बीस अलग अलग मामले दर्ज हैं. लेकिन वह बीते कई सालों से अधिकारीयों की आँखों में धूल झोंकता आ रहा था. इस मामले में सबसे चौंकाने वाली बात ये है कि येदला श्रिनु लकड़ी की तस्करी के के लिए आज के दौर में भी बैलगाड़ी का इस्तेमाल करता था. जिसकी आमतौर पर जाँच नहीं की जाती.

रामगुंडम के पुलिस कमिश्नर वी सत्यनारायण के मुताबिक येदला श्रिनु के चलते किसानों, चरवाहों और पशुपालकों में डर का माहौल था. यही वजह थी कि लकड़ियों की तस्करी के ज्यादातर मामले सामने नहीं आ पाते थे. येदला श्रिनु की गिरफ़्तारी के बाद अब पुलिस इस बता का पता लगाने में जुटी हुई है कि बीते बीस सालों में उसने तस्करी से कितने रुपये बनाये हैं. इसके साथ ही पुलिस ने तेलंगाना और आंध्रप्रदेश केउन मिल मालिकों को भी गिरफ्तार कर लिया है जिन्हें येदला श्रिनु सागौन की लकडियां सप्लाई किया करता था.

Input your search keywords and press Enter.