fbpx
Now Reading:
बिहार में बाढ़ का कहर : समस्तीपुर-दरभंगा रेल मार्ग पर ट्रेनों की आवाजाही पर लगी ब्रेक
Full Article 2 minutes read

बिहार में बाढ़ का कहर : समस्तीपुर-दरभंगा रेल मार्ग पर ट्रेनों की आवाजाही पर लगी ब्रेक

Bihar and assam flood

बिहार में बाढ से लोगों का बुरा हाल है. दर्जनभर से ज्यादा जिलों में बाढ़ का पानी घरों में घुसने से लोगों को काफी समस्याओं का सामना करना पड़ा रहा है. रेलवे ट्रैक्स पर पानी भर जाने रेल यातायात प्रभावित हुआ है. ऐसे में कई ट्रेने रद्द करनी पड़ी हैं तो कई ट्रेनों के रूट में  बदलाव करना पड़ा है. 

मिली जानकारी के मुताबिक समस्तीपुर रेलमंडल के हायाघाट स्टेशन के पास पुल नंबर 16 पर जल जमाव होने से आधा दर्जन ट्रेनों को कैंसिल कर दिया गया, जबकि कई ट्रेनों के रूट में परिवर्तन किया गया है.  जिन ट्रेनों को कैंसिल किया गया है उनमें 75225 समस्तीपुर-रक्सौल पैसेंजर, 75207 समस्तीपुर-मुजफ्फरपुर पैसेंजर,दरभंगा-समस्तीपुर पैसेंजर, जयनगर कटिहार मनिहारी एक्सप्रेस,जयनगर पटना इंटरसिटी एक्सप्रेस और पटना-जयनगर इंटरसिटी एक्सप्रेस शामिल हैं.

Related Post:  बौखला गए हैं नितीश कुमार ! बच्चों की मौत पर सवाल पूछने पर मीडिया पर निकाली भड़ास

जबकि दरभंगा-नई दिल्ली बिहार संपर्क क्रांति एक्सप्रेस,  रक्सौल- हैदराबाद एक्सप्रेस,अहमदाबाद- दरभंगा जनसाधारण एक्सप्रेस,जयनगर अमृतसर एक्सप्रेस,कोलकाता सीतामढ़ी एक्सप्रेस,सीतामढ़ी-कोलकाता का रूट बदला गया है.

तो वहीं दूसरी तरफ उत्तरी बिहार के इलाके बाढ़ से बेहाल है.सड़कें और खेत जलमग्न हैं. घरों, गलियों और दुकानों में पानी भर गया है. बाढ़ से बचने के लिए लोग ऊंचे स्थानों की ओर पलायन करने पर मजबूर है और जो नहीं जा सकते वो अपने घरों में कैद होकर रह गए हैं.

Related Post:  नेपाल से छोड़े गए पानी से नदियों में उफान, आपदा प्रबंधन विभाग अलर्ट पर

बिहार आपदा प्रबंधन विभाग के एक अधिकारी  के मुताबिक बिहार के 13 जिले शिवहर, सीतामढ़ी, मुजफ्फरपुर, पूर्वी चंपारण, मधुबनी, दरभंगा, सहरसा, सुपौल, किशनगंज, अररिया, पूर्णिया, कटिहार और पश्चिम चंपारण में अब तक बाढ़ से 127 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 82 लाख 83 हजार से ज्यादा लोग प्रभावित हुए हैं.

हालाकिं जल संसाधान विभाग के प्रवक्ता अरविंद कुमार का कहना है कि कोसी के जलस्तर में वीरपुर बैराज के पास शुक्रवार की तुलना में शनिवार को कमी आई है लेकिन बागमती, बूढ़ी गंडक, कमला बलान, अधवारा समूह की नदियां, खिरोई और महानंदा राज्य की अलग अलग जगहों पर खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं.

Related Post:  क्या ऐश्वर्या राय ने छोड़ा ससुराल ? राबड़ी आवास से रोते हुए निकली बाहर, अटकलों का बाजार गर्म 
Input your search keywords and press Enter.