fbpx
Now Reading:
BMC के चीफ इंजीनियर समेत दो निलंबित, जल्द होंगी कई गिरफ्तारियां

BMC के चीफ इंजीनियर समेत दो निलंबित, जल्द होंगी कई गिरफ्तारियां

मुंबई: गुरुवार शाम मुंबई के छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस (सीएसएमटी) रेलवे स्टेशन के पास हुए ब्रिज हादसे के बाद कार्यवाही शुरू हो गई है। मुंबई पुलिस ने इस मामले में लापरवाही का मामला दर्ज किया तो वहीँ हादसे के दूसरे दिन ही BMC ने ज़िम्मेदारी तय करते हुए, पहली कार्रवाई की है। महानगर पालिका ने अपने चीफ इंजीनियर (पुल) एसओ कोरी और डिप्टी चीफ इंजीनियर आरबी तारे की जांच रिपोर्ट के आधार पर चीफ इंजीनियर एआर पाटिल और एसिस्टेंट इंजीनियर एस एफ ककुलते को सस्पेंड कर दिया गया है। साथ ही जांच में ब्रिज जर्जर नहीं है रिपोर्ट देने वाली कंपनी जेडी देसाई कंसल्टेंट को ब्लैक लिस्ट करने पर जोड़ दिया गया है।

वहीँ ब्रिज के आधे हिस्से को बीएमसी ढहाने का फैसला किया। गुरुवार शाम हुई इस हादसे में कुल छह लोगों की मौत हो गई है और 31 अन्य घायल हो गए।

बीएमसी आयुक्त अजॉय मेहता की अध्यक्षता वाली बैठक में शुक्रवार को सुबह यह भी फैसला लिया गया कि महानगरपालिका के मुख्य इंजीनियर (सतर्कता) फुट ओवरब्रिज के गिरने के कारणों की जांच करेंगे।

वहीँ वार्ड अधिकारी किरन दिगवाकर ने बताया कि फुट ओवरब्रिज को गिराने का काम शुरू हो गया है और इस काम के लिए क्रेन तथा गैस कटर भी एकत्रित कर लिए हैं।

हालांकि  खुद बीएमसी के एक अधिकारी ने ये दावा किया था कि जब रायगढ़ जिले के महाड में मानसून की बारिश में सावित्री नदी पर बने ब्रिटिश काल के पुल के ढहने के तुरंत बाद अगस्त 2016 में फुट ओवरब्रिज का ऑडिट किया गया था तो यह सुरक्षित पाया गया था।

Input your search keywords and press Enter.