fbpx
Now Reading:
चमकी बुखार ने बढ़ाईं हर्षवर्धन और मंगल पांडेय की मुश्किलें, CJM ने दिए जांच के आदेश

चमकी बुखार ने बढ़ाईं हर्षवर्धन और मंगल पांडेय की मुश्किलें, CJM ने दिए जांच के आदेश

बिहार में चमकी बुखार से मरने वालों का आकंड़ा लगातार बढ़ता जा रहा है. अब तक चमकी बुखार से 169 बच्चों की मौत हो चुकी है. तो वहीं दूसरी तरफ केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्द्धन और मंगल पांडे के खिलाफ दायर हुई अर्जी पर एसीजेएम ने संज्ञान लेते हुए जांच के आदेश दिए हैं. मामले की सुनवाई आगामी 28 जून को होगी.

दरअसल सामाजिक कार्यकर्ता तमन्ना हाशमी ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्द्धन और बिहार के स्वास्थ मंत्री मंगल पांडे बच्चों की मौत का जिम्मेदार ठहराया था. इसे लेकर उन्होंने एसीजेएम कोर्ट में परिवाद दाखिल किया था. जिस पर संज्ञान लेते हुए एसीजेएम ने मामले की जांच के आदेश दिए हैं.

Related Post:  बिहार के बाज़ार में उतरा है ‘मौत का लाल लीची’ अब तक 32 मौत

वहीं दूसरी तरफ सुप्रीम कोर्ट ने भी चमकी बुखार पर सख्त रुख अख्तियार करते हुए केंद्र और बिहार सरकार को फटकार लगाई है. सुप्रीम कोर्ट ने नोटिस जारी करते हुए सात दिनों के भीतर चमकी बुखार से निपटने के लिए उठाए गए कदमों की जानकारी मांगी है.

गौरतलब है कि मुजफ्फरपुर में बच्चों की मौत के मामले से जुड़ी दो याचिकाएं सुप्रीम कोर्ट में दाखिल की गई थी. सुप्रीम कोर्ट में दायर की गई याचिका में मांग की गई थी कि अदालत की तरफ से बिहार सरकार को मेडिकल सुविधा बढ़ाने के आदेश दिए जाएं और साथ ही केंद्र सरकार को इस बारे में एक्शन लेने को कहा जाए. जिस पर आज सुप्रीम कोर्ट में हुई सुनवाई हुई. सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने कहा कहा कि ये मामला हेल्थ सर्विस, न्यूट्रिशन और हाइजिन का है और ये सभी लोगों का मूल अधिकार हैं और उन्हें निश्चित रूप से मिलना ही चाहिए.

Related Post:  बिहार में बच्चों की मौत के बीच चिकित्सक हड़ताल पर, ओपीडी सेवा बाधित, लौटाये जा रहे मरीज
Input your search keywords and press Enter.