fbpx
Now Reading:
उन्नाव रेप पीड़ित हादसा या हत्या ? आरोपी विधायक ने दी थी धमकी सबको मरवा दूंगा
Full Article 3 minutes read

उन्नाव रेप पीड़ित हादसा या हत्या ? आरोपी विधायक ने दी थी धमकी सबको मरवा दूंगा

उन्नाव रेप पीड़ित के हादसे के बाद देशभर में हलचल मची हुई है.हर कोई इस मामले के बारे में सच जानना चाहता है. केजीएमयू अस्पताल के बाहर पीड़िता के परिवार धरने पर बैठे हैं और जेल में बंद पीड़िता के चाचा के रिहाई की मांग कर रहे हैं. और आरोपी विधायक के फांसी की मांग कर रहे हैं. वहीं दूसरी तरफ संसद के परिसर में भी इस मामले को लेकर तमाम दलों के नेता विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं.

ऐसे में यह सवाल पूछा जा रहा है कि आरोपी पर इतने गंभीर आरोप लगने के बावजूद आखिरकार बीजेपी उन्हें अपनी शरण में क्यों रखे हुए हैं? आखिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस विषय पर क्यों कुछ नहीं बोलते ? फिर भारतीय जनता पार्टी की आखिर ऐसी कौन सी मजबूरी है जो कुलदीप सिंह सिंगर को पार्टी निकाल नहीं रही ?

उन्नाव की रेप पीड़िता को न्याय के लिए देशभर में हलचल मची हुई है. आपको बता दें कि बीते साल बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर युवती ने बलात्कार का आरोप लगाया था. जिसके बाद बीजेपी विधायक की गिरफ्तारी भी हुई मामले में सीबीआई की तरफ से जांच की जा रही है और लगातार आरोपी विधायक की तरफ से पीड़ित परिवार पर दबाव बनाया जा रहा है कि वह केस वापस ले ले.

लेकिन जब केस वापस नहीं लिया गया तो आरोपी और गवाहों की हत्या करने की साजिश की गई और इसी साजिश के तहत उनकी कार को ट्रक से कुचलवाया गया. इस तरह का आरोप पीड़ित के परिवार ने लगाया है. वहीं पीड़ित के परिवार का यह भी आरोप है कि आरोपी विधायक लगातार परिवार पर दबाव बना रहा है. कि वह अपना बयान बदल ले नहीं तो सब की हत्या करवा दूंगा.

सोमवार की सुबह पीड़िता रायबरेली की जेल से अपने चाचा से मुलाकात कर वापस लौट रही थी उस दौरान रॉन्ग साइड से आ रही एक ट्रक ने पीड़िता की कार को टक्कर मार दी इस हादसे में पीड़िता की चाची और पीड़िता की मौसी की मौत हो गई है. जबकि पीड़िता और उनके वकील की हालत अस्पताल में गंभीर बनी हुई है पीड़िता की मौसी और पीड़िता की चाची दोनों ही जन रेप मामले में सीबीआई के गवाह थे.

मामले की गंभीरता को देखते हुए न सिर्फ योगी सरकार बैकफुट पर आई है बल्कि यूपी पुलिस भी बैकफुट पर आ गई है और अब वह हादसे की जांच सीबीआई से कराने के लिए तैयार है. पीड़िता के चाचा की तरफ से यह भी बयान दिया गया है कि आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर जेल में रहने के बावजूद फोन करके धमकी देता है. सुरक्षा में तैनात पुलिसकर्मी मखबिरि करता है तो इस मामले की निष्पक्ष जांच कैसे होगी ? भतीजी को नया कैसे मिलेगा ?

Input your search keywords and press Enter.