fbpx
Now Reading:
मायावती के पुराने साथी नसीमुद्दीन सिद्दीकी का दावा 23 मई के बाद बीजेपी में शामिल हो जायेंगी
Full Article 2 minutes read

मायावती के पुराने साथी नसीमुद्दीन सिद्दीकी का दावा 23 मई के बाद बीजेपी में शामिल हो जायेंगी

बलिया: कांग्रेस नेता एवं उत्तर प्रदेश की बसपा सरकार में मंत्री रहे नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने बसपा में पुनः शामिल होने की संभावना से इंकार करते हुए बुधवार को दावा किया कि 23 मई के बाद बसपा सुप्रीमो मायावती बीजेपी से मिल जायेंगी.

कांग्रेस नेता सिद्दीकी ने बातचीत करते हुए बसपा सुप्रीमो मायावती के प्रधानमंत्री पद की दावेदारी को लेकर मीडिया में चल रही खबरों पर आश्चर्य प्रकट किया. उन्होंने कहा कि बसपा के सहयोगी दल सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव व राष्ट्रीय लोकदल ने कभी भी यह स्पष्ट रूप से नहीं कहा कि वह मायावती के प्रधानमंत्री पद की दावेदारी का समर्थन करते हैं.

उन्होंने कहा कि अखिलेश यादव ने सिर्फ यह कहा है कि अगला प्रधानमंत्री उत्तर प्रदेश से ही बनेगा, तब ऐसे में मायावती के प्रधानमंत्री बनने का सवाल ही कहां उठता है.

उन्होंने दावा किया कि 23 मई के बाद बसपा सुप्रीमो मायावती बीजेपी से मिल जायेंगी. उन्होंने कहा कि मायावती पहले भी बीजेपी से मिल चुकी हैं और बीजेपी को अपना वोट ट्रांसफर करा चुकी हैं. मायावती पर इस तरह का दबाव बनेगा कि वह बीजेपी का हिस्सा बन जायेंगी. जब मायावती बीजेपी के साथ चली जायेंगी तो सपा के सामने देश एवं प्रदेश हित में कांग्रेस के साथ आने के सिवाय कोई विकल्प नहीं रह जायेगा.

सिद्दीकी ने कहा कि राजनीति में कुछ भी असम्भव नहीं होता. वे पिछले 33 वर्ष से मायावती को जानते हैं. जितना वह उनको जानते हैं, उतना मायावती भी स्वयं को नहीं जानती. वे आज भी मायावती का बहुत सम्मान करते हैं.

उन्होंने एक सवाल के जबाब में बसपा में पुनः शामिल होने की संभावना से इंकार किया. उन्होंने कहा कि वे कांग्रेस में हैं तथा मृत्यु के समय तक कांग्रेस में ही रहेंगे. उन्होंने दावा किया कि लोकसभा चुनाव के बाद कांग्रेस की सरकार बनेगी और राहुल गांधी प्रधानमंत्री बनेंगे. देश के अधिकांश लोग मोदी को प्रधानमंत्री के रूप में नहीं देखना चाहते.

Input your search keywords and press Enter.