fbpx
Now Reading:
पाकिस्तान को तमाचा! हाफिज, मसूद सहित 4 आतंकियों पर भारत को मिला अमेरिका साथ
Full Article 4 minutes read

पाकिस्तान को तमाचा! हाफिज, मसूद सहित 4 आतंकियों पर भारत को मिला अमेरिका साथ

laration-of-masood-azhar-hafiz-saeed-zakiur-rehman-lakhvi-da

जैश-ए-मोहम्मद प्रमुख मसूद अजहर, लश्कर-ए-तैयबा संस्थापक हाफिज सईद समेत चार आतंकियों को भारत में एक नये आतंकवाद विरोधी कानून के तहत आतंकवादी घोषित करने के कदम का अमेरिका ने समर्थन किया है जिससे आतंकवाद से लड़ने में दोनों देशों के बीच सहयोग की संभावना बढ़ गयी है। भारत सरकार ने मुंबई आतंकी हमले के आरोपी जकी-उर-रहमान लखवी, भगोड़े गैंगस्टर दाऊद इब्राहिम, जैश प्रमुख मसूद अजहर और लश्कर संस्थापक हाफिज मुहम्मद सईद को बुधवार को एक नये आतंकवाद रोधी कानून के तहत आतंकवादी घोषित किया था।

दक्षिण और मध्य एशिया के लिए कार्यवाहक सहायक मंत्री एलिस जी वेल्स ने बुधवार (4 सितंबर) को ट्वीट किया, ”हम भारत के साथ खड़े हैं और चार आतंकियों मौलाना मसूद अजहर, हाफिज सईद, जकी-उर-रहमान लखवी तथा दाऊद इब्राहिम को आतंकवादी घोषित करने के लिए नये कानूनी प्राधिकारों का इस्तेमाल करने के लिए उसकी प्रशंसा करते हैं। यह नया कानून आतंकवाद की समस्या से लड़ने के भारत और अमेरिका के संयुक्त प्रयासों की संभावनाओं का विस्तार करता है।”

भारत ने लश्कर-ए-तैयबा प्रमुख हाफिज सईद, जैश-ए-मोहम्मद प्रमुख मसूद अजहर, कश्मीर में लश्कर-ए-तैयबा के सर्वोच्च कमांडर जकी-उर-रहमान लखवी और भगोड़े अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम को गैरकानूनी गतिविधि (रोकथाम) अधिनियम के तहत आतंकवादी घोषित किया है। यह घोषणा बुधवार (4 सितंबर) को जारी एक गजट अधिसूचना के माध्यम से की गई। करीब एक महीना पहले ही संसद द्वारा गैरकानूनी गतिविधि रोकथाम अधिनियम (यूएपीए) कानून में संशोधन को मंजूरी दी गई थी।

Related Post:  हरमनप्रीत कौर ने हवा में छलांग लगाकर एक हाथ से पकड़ा शानदार कैच, सोशल मीडिया पर वीडियो हुआ वायरल 

इस संशोधन के अनुसार, अब व्यक्तिगत तौर पर भी आतंकवादी घोषित किया जा सकता है, जबकि इससे पहले केवल समूहों या संगठनों को ही आतंकवादी घोषित किया जा सकता था। यह अधिसूचना गैरकानूनी गतिविधि (रोकथाम) अधिनियम की धारा-35 की उपधारा (1) के खंड (क) के आधार पर जारी की गई है। यह केंद्र सरकार को अधिनियम की चौथी अनुसूची में किसी व्यक्ति के नाम को अधिसूचित करने का अधिकार देती है, अगर यह माना जाता है कि कोई व्यक्ति आतंकवाद में शामिल है।

केंद्र सरकार का मानना है कि सईद, अजहर, लखवी और दाऊद आतंकवाद में शामिल हैं और इन्हें यूएपीए के तहत आतंकवादी के रूप में अधिसूचित किया जाना चाहिए। मौलाना मसूद अजहर उर्फ मौलाना मोहम्मद मसूद अजहर अल्वी उर्फ वली आदम इस्सा का जन्म 10 जुलाई, 1968 को हुआ था। वह अल्लाह बक्श साबिर की संतान है और आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद का संस्थापक व एवं प्रमुख नेता है।

Related Post:  UN से पाकिस्तान को फिर झटका, कश्मीर पर मध्यस्थता से किया इनकार

अधिसूचना में कहा गया है, “अजहर को इस साल मई में संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्ताव-1267 के तहत एक वैश्विक आतंकवादी घोषित किया गया है। इसी के साथ आतंकवादी गतिविधि रोकथाम अधिनियम (पोटा) के विशेष न्यायाधीश द्वारा भी उसे भगोड़ा अपराधी घोषित किया गया है।”

अजहर पर भारत में विभिन्न आतंकवादी हमलों में शामिल होने का आरोप लगाया गया है। अजहर इस साल 14 फरवरी को पुलवामा आतंकी हमले में भी शामिल रहा था, जिसमें 40 अर्धसैनिक बल के जवान मारे गए थे। इसके अलावा हाफिज सईद उर्फ मुहम्मद सईद का जन्म पांच जून, 1950 को हुआ था। वह घोषित आतंकवादी संगठन लश्कर-ए-तैयबा और जमात-उद-दावा का संस्थापक व प्रमुख नेता है।

लश्कर को एक आतंकवादी संगठन के रूप में सूचीबद्ध किया गया है और सईद को 10 दिसंबर, 2008 को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्ताव-1267 के तहत संयुक्त राष्ट्र द्वारा एक वैश्विक आतंकवादी घोषित किया गया है। वह मुंबई विस्फोट में शामिल रहा है।

Related Post:  बड़ा खुलासाः पाकिस्तान अपने राजनयिक मिशनों का प्रयोग कर भारत में फैला रहा नकली नोट का नेटवर्क

इसी के साथ लखवी उर्फ जाकिर रहमान का जन्म 30 दिसंबर, 1960 को हुआ था। अधिसूचना में उसे लश्कर के मुख्य कमांडर और इसके संस्थापक सदस्यों में से एक बताया गया है। उसे संयुक्त राष्ट्र द्वारा 10 दिसंबर, 2008 को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्ताव-1267 के तहत एक वैश्विक आतंकवादी घोषित किया गया है। वह भारत में विभिन्न आतंकवादी हमलों में शामिल रहा है।

अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम कासकर उर्फ अनीस इब्राहिम का जन्म 26 दिसंबर, 1955 को हुआ। दाऊद पर भारत और विदेशों में धार्मिक कट्टरवाद, आतंक के वित्तपोषण, हथियारों की तस्करी, जाली मुद्रा के प्रचलन, मनी लॉन्ड्रिंग, नशीले पदार्थों, जबरन वसूली और बेनामी अचल संपत्ति के कारोबार को बढ़ावा देने का आरोप है। उसे भी संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्ताव-1267 के तहत एक वैश्विक आतंकवादी घोषित किया गया है।

Input your search keywords and press Enter.