fbpx
Now Reading:
रॉबिन उथप्पा का खुलासा, इस खिलाड़ी की ‘मदद’ के बाद Mayank Agarwal की बैटिंग हो गई थी बेहतरीन
Full Article 2 minutes read

रॉबिन उथप्पा का खुलासा, इस खिलाड़ी की ‘मदद’ के बाद Mayank Agarwal की बैटिंग हो गई थी बेहतरीन

MayanK Agrawal

विशाखापट्टनम टेस्ट की पहली पारी में दोहरा शतक जमाने वाले मयंक अग्रवाल की आज देशभर में प्रशंसा हो रही है. यही मयंक एक समय नाकामी के दौर से गुजर रहे थे और हालात यहां तक पहुंच गए थे कि उन पर अपने राज्य कर्नाटक की टीम से भी बाहर होने का खतरा मंडरा रहा था. ऐसे समय कर्नाटक टीम के पूर्व कप्तान और तेज गेंदबाज विनय कुमार उनकी मदद के लिए सामने आए थे. टीम इंडिया के लिए खेल चुके बल्लेबाज रॉबिन उथप्पा  ने यह खुलासा किया है. रॉबिन का मानना है कि अगर कर्नाटक के पूर्व कप्तान आर विनय कुमारखराब फॉर्म से जूझ रहे मयंक अग्रवाल को उपयोगी सलाह नहीं देते, तो शायद क्रिकेट जगत को उनकी शानदार बल्लेबाजी देखने को नहीं मिलती.

Related Post:  India vs South Africa : टीम इंडिया ने साउथ अफ्रीका को 7 विकेट से धोया, कोहली ने खेली 72 रनों की शानदार पारी

गौरतलब है कि मयंक अग्रवाल गुरुवार को अपने पहले ही टेस्ट शतक को दोहरे शतक में बदलने वाले सिर्फ चौथे भारतीय बल्लेबाज बने है. ऐसे में टीम के उनके पूर्व साथी उथप्पा ने याद किया कि कैसे विनय के प्रेरणादायी शब्दों से इस सलामी बल्लेबाज के प्रदर्शन में सुधार हुआ. उथप्पा  ने कोलकाता नाइट राइडर्स के प्रचार कार्यक्रम के इतर कहा, ‘मुझे याद है कि हम उसे रणजी मैच से बाहर करने पर विचार कर रहे थे लेकिन जब (कप्तान) आर विनय कुमार ने उन्हें प्रेरणादायी शब्द कहे तो उसने तिहरा शतक जड़ा और फिर मुड़कर नहीं देखा.’ अग्रवाल  ने प्रथम श्रेणी क्रिकेट में अपना पहला तिहरा शतक जड़ते हुए महाराष्ट्र के खिलाफ पुणे में नाबाद 304 रन की पारी खेली जिससे टीम ने पारी और 136 रन से जीत दर्ज की.

Related Post:  IND vs SA: टीम इंडिया को जोर का झटका, चोटिल बुमराह टेस्ट सीरीज से हुए बाहर, उमेश यादव को मिला मौका

मयंक अग्रवाल ने विशाखापट्टनम में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पहले टेस्ट में 215 रन बनाए जिससे भारत ने पहली पारी सात विकेट पर 502 रन बनाकर घोषित की. उथप्पा ने रोहित शर्मा की भी तारीफ की जिन्होंने टेस्ट सलामी बल्लेबाज के रूप में अपनी पहली ही पारी में 244 गेंद में 176 रन बनाए. उन्होंने कहा, ‘उसने हमेशा भारत और विदेश में अच्छा प्रदर्शन किया है। सफेद गेंद के क्रिकेट में भी उसका दबदबा है. वह दुनिया के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों में से एक है.’

Related Post:  कोहली ने सबसे ज्यादा शतक के मामले में इंजमाम को पीछे छोड़ा, सोबर्स और स्मिथ की बराबरी की
Input your search keywords and press Enter.