fbpx
Now Reading:
दलित की बारात पर हमला पथराव के बाद हिंसा और लाठीचार्ज, गुजरात में दलित हमले के कई मामले
Full Article 2 minutes read

दलित की बारात पर हमला पथराव के बाद हिंसा और लाठीचार्ज, गुजरात में दलित हमले के कई मामले

गुजरात के मेहसाणा में दलित परिवार के बेटे का घोड़ी पर बारात निकालने के मामले में सामाजिक बहिष्कार के बाद अब राज्य के अरावली जिले में दलित दूल्हे की बारात पर पथराव किया गया। आरोप इलाके के अगड़ी जाती के लोगों पर लगी है, जिसके बाद इलाके में हिंसा भड़क गई। हालात पर काबू पाने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज भी करना पड़ा। महज़ हफ्ते भर के अंदर गुजरात में ये चौथा मामला है जहांन दलितों की शादी के जुलूस पर हमले किये गए है। इन सभी मामलों में दलितों को ऊंची जाति वाले स्थानीय लोगों के प्रतिरोध का सामना करना पड़ा है।

Related Post:  नए आर्मी चीफ की कवायद तेज, तीन नाम हैं रेस में सबसे आगे, पढ़ें पूरी रिपोर्ट

जानकारी के मुताबिक, साबरकांठा जिले की प्रांतिज तहसील के सितवाड़ा गांव में रविवार को एक दलित युवा की बारात पुलिस की निगरानी में निकाली जा रही थी। ऊंची जाति के लोगों के लगातार विरोध की वजह से भारी पुलिस बल तैनात किया गया था। विरोध और हिंसा की खबर मिलते ही 2 दिन पहले इसी इलाके में दलित कॉन्स्टेबल की बारात भी पुलिस सुरक्षा में निकाली गई थी।

अरावली जिले के मोडासा तालुका के खम्बीसार गांव में हिंसा उस वक्त भड़की, जब उच्च जाति के स्थानीय लोगों ने कथित रूप से शादी के जुलूस पर पथराव किया। वे इस तरह के जुलूस निकालने वाले दलितों का लगातार विरोध कर रहे हैं। वहीं, इसके खिलाफ उन्होंने गांव के मुख्य मार्ग पर यज्ञ और हवन भी करवाया था। सूत्रों के मुताबिक, दलित समुदाय के सदस्यों ने जयेश राठौड़ की बारात निकालने के लिए पुलिस से अनुमति भी ली थी। साथ ही, इसके लिए पुलिस सुरक्षा की भी मांग की थी।

Related Post:  81 साल का बूढ़ा बनकर अमेरिका जा रहा युवक गिरफ्तार, ऐसे खुली पोल 

यज्ञ के ज़रिये बारात रोकने की कोशिश

बारात को रोकने के लिए दबंगों ने रास्ते में कई जगह यज्ञ का आयोजन कर रखा था। वे (ऊंची जाति के लोग) नहीं चाहते थे कि गांव में बारात निकाली जाए। ऐसे में उन्होंने कई जगह यज्ञ का आयोजन करा दिया। जब हमारी बारात पटेल फालिया से गुजरी तो पुलिस ने ऊंची जाति के लोगों को शांत कराने के लिए हमें रोक दिया। हालांकि, इसके बाद हम पर पथराव होने लगा और हमारे अधिकतर लोग बचने के लिए इधर-उधर छिपने लगे।

Related Post:  भारी भरकम इस खिलाड़ी ने क्यों कहा ऐसा- भारत के खिलाफ टेस्ट में करूंगा कमाल
Input your search keywords and press Enter.