fbpx
Now Reading:
राशिद बेहतरीन गेंदबाज, उन्हें खेलना आसान नहीं: टीम इंडिया कप्तान विराट कोहली
Full Article 3 minutes read

राशिद बेहतरीन गेंदबाज, उन्हें खेलना आसान नहीं: टीम इंडिया कप्तान विराट कोहली

लंदन: भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने अफगानिस्तान के स्पिनर राशिद खान की तारीफ करते हुए कहा है कि वह शानदार गेंदबाज हैं, जिन्हें खेलना आसान नहीं है. कोहली ने साथ ही कहा कि वह हालांकि इस मिस्ट्री स्पिनर के खिलाफ खेलने को तैयार हैं. कोहली ने यहां कप्तानों की मुलाकात में सवालों का जबाव देते हुए यह बात कही. कोहली ने राशिद के बारे में पूछे गए सवाल पर कहा, “तीन साल हो गए हैं, मैंने अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर उन्हें नहीं खेला है. मैं उनके खिलाफ खेलना चाहता हूं. वह बेहतरीन गेंदबाज हैं. उनकी ताकत उनकी तेजी है. बल्लेबाज जब तक सोचता है तब गेंद बल्ले पर आ जाती है. साथ ही उनके वैरिएशन भी शानदार हैं. उन्हें पकड़ पाना मुश्किल होता है.”

कोहली ने कहा कि राशिद की गेंदों में तेज गेंदबाजों जैसी कला है और यही उन्हें खतरनाक बनाती है. भारतीय कप्तान ने कहा, “वह तेज गेंदबाज की तरह लगते हैं. इस विश्वकप में उन्हें खेलने के लिए तैयार हूं.” कोहली ने कहा कि वह विश्वकप में टीम का कप्तान बनकर काफी सम्मानित महसूस कर रहे हैं. कोहली के मुताबिक, “मेरे लिए विश्वकप में भारतीय टीम की कप्तानी करना सम्मान की बात है. सभी टीमें पहला मैच खेलने के लिए उत्साहित हैं. उसके बाद पता चलेगा की हमें टूर्नामेंट में आगे कैसे जाना है और कहां काम करना है.”

भारतीय टीम बुधवार को तीसरे विश्वकप खिताब के लिए लंदन पहुंची. भारत को विश्वकप में अपना पहला मुकाबला पांच जून को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेलना है. उससे पहले भारत दो अभ्यास मैच खेलने हैं. भारत को इस विश्वकप में 16 जुलाई को पाकिस्तान के खिलाफ भी खेलना है. कोहली से जब इस हाई वोल्टेज मुकाबले के बारे में पूछा गया थो उन्होंने कहा कि यह एक आम मैच की तरह है.

कोहली ने कहा, “मुझे लगता है कि भारत-पाकिस्तान के मुकाबले का सभी को इंतजार रहता है. हम इस बात को हमेशा कहते आए हैं. अगर आप खिलाड़ियों से पूछेंगे तो हमारे लिए यह मैच प्रशंसकों की भावना से अलग है. हां हम भी रोमांच महसूस करते हैं, लेकिन जब आप मैदान में कदम रखते हो तो यह बेहद पेशेवर हो जाता है.”

कोहली ने कहा, “हमारे लिए यह बाकी के मैचों की तरह है जिसे हम जीतना चाहते हैं. हां, यह मैच दबाव लाता है क्योंकि स्टेडियम में माहौल अलग होता है. लेकिन मैदान में जाते ही हमारे लिए यह सिर्फ क्रिकेट का मैच है. हम इस बात को लगातार कहते आ रहे हैं और यही सच है.”

Input your search keywords and press Enter.