fbpx
Now Reading:
WhatsApp का ये नया फीचर लगाएगा फेक न्यूज और अफवाहों पर लगाम
Full Article 2 minutes read

WhatsApp का ये नया फीचर लगाएगा फेक न्यूज और अफवाहों पर लगाम

सोशल मीडिया दोधारी तलवार है जहां इस माध्यम से जनकल्याण के काम होते हैं, वहीं अफवाहों को फैलाने में भी सोशल मीडिया का बड़ा योगदान रहा है.अफवाहों के घातक परिणाम और हिंसक घटनाएं भी देखने को मिल चुकी है. लेकिन अब जल्द ही इंस्टैंट मैसेजिंग ऐप WhatsApp फेक न्यूज और इन्फॉर्मेशन शेयर होने पर कुछ हद तक लगाम लगा सकता है.

अब कंपनी फॉरवर्ड किए गए मैसेज के लेबल को इंप्रूव करेगी. इसके तहत जो मैसेज ज्यादा मात्रा और तेजी से फॉरवर्ड हो रहे होंगे वहां Frequently Forwarded का लेबल देगी. ताकि जिन्हें वो मैसेज मिले वो ये समझ सकें कि ये फॉरवर्ड किया गया हुआ मैसेज है और इस पर भरोसा करने से पहले इसकी प्रमाणिकता की जांच कर लें.

WhatsApp का ये फॉर्वर्डिंग फीचर यूजर्स को बताएगा कि कितनी बार वो मैसेज फॉरवर्ड हुआ है. यह जानकारी इंडिविजुअल चैट के मैसेज इनफो में होगा और ये सिर्फ सेंट मैसेज में होगा. अगर यूजर्स को ये जानना है कि उनके द्वारा कितनी बार कोई मैसेज फॉरवर्ड किए गए हैं, उसे एक बार और फॉरवर्ड करना होगा और यहां से चेक कर सकेंगे.

फ्रिक्वेंटली फॉर्वर्डेड फीचर की बात करें तो अगर यूजर्स को चार बार से ज्यादा फॉरवर्ड किया हुआ मैसेज मिलता है तो ये यूजर्स को स्पेशल मैसेज दिखेगा. इसके लिए वॉट्सऐप Forwarded Tag टॉप लेफ्ट कॉर्नर में दिखेगा. जाहिर है कंपनी का मकसद लोगों को ये बताना है कि ये मैसेज ज्यादा फॉर्वर्ड किया जा रहा है. ताकि फेक कॉन्टेंट को यूजर्स चेक कर सकें.

भारत में फेक न्यूज, गलत इनफॉर्मेशन और चाइल्ड पॉर्न को वॉट्सऐप पर शेयर करने से रोकने के लिए WhatsApp आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस बेस्ड टेक का यूज कर रही है जो इस तरह के कॉन्टेंट वाले प्रोफाइल को डिटेक्ट करता है और उसे डिलीट करता है.

Input your search keywords and press Enter.