fbpx
Now Reading:
इमरान खान क्यों जपते है PM मोदी के नाम की माला ? पढ़ें ये ख़ास रिपोर्ट
Full Article 3 minutes read

इमरान खान क्यों जपते है PM मोदी के नाम की माला ? पढ़ें ये ख़ास रिपोर्ट

नई दिल्‍ली: पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को सोते-जगते जिस नाम की धुन सवार रहती है वो हैं पीएम मोदी। अपनी हर सभा में या अपनी किसी भी प्रेस कांफ्रेंस में वह पीएम नरेंद्र मोदी का जिक्र करना नहीं भूलते हैं। हर चीज के लिए पीएम मोदी को कोसना इमरान खान की फितरत में शामिल हो चुका है। अपने यहां पर आतंकियों को पनाह देने वाले देश के प्रधानमंत्री फिलहाल क्षेत्रीय शांति को लेकर चिंतित होने का दिखावा कर रहे हैं और इसके लिए भी वह भारत और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को दोषी ठहराने में लगे हैं।

दरअसल, 13-14 नवंबर को इस्‍लामाबाद में इस्‍लामाबाद पॉलिसी रिसर्च इंस्टिट्यूट (IPRI) ने मर्गला डॉयलॉग 2019 (Margalla Dialogue 2019) का आयोजन किया था। इस बार इसका विषय था दक्षिण–मध्‍य और सेंट्रल एशिया में विकास और  शांति। इसके समापन के दौरान उन्‍होंने कहा कि आपस में लड़ने से अच्‍छा है कि हम सभी एकजुट होकर गरीबी, भुखमरी, क्‍लाइमेट चेंज के खिलाफ लड़ाई लड़ें।

इस दौरान उन्‍होंने ईरान-सऊदी अरब और ईरान-अमेरिकी तनाव का भी जिक्र किया और कहा कि पाकिस्‍तान किसी भी देश के साथ युद्ध करने का पैरोकार नहीं है। यहीं पर उन्‍होंने भारत का भी जिक्र किया। उन्‍होंने पूरी दुनिया को चेताते हुए यहां तक कहा कि भारत की वजह से इस क्षेत्र की शांति और विकास गंभीर समस्‍या बना हुआ है। वह यहीं पर नहीं रुके। उन्‍होंने आगे कहा कि पूरी वैश्विक बिरादरी को आकर इसके लिए कदम उठाना चाहिए। यदि ऐसा नहीं हुआ तो ये पूरी दुनिया के लिए बड़ा खतरा होगा जिससे पूरी दुनिया प्रभावित होगी।

आपको यहां पर याद दिलाना जरूरी हो जाता है कि इमरान खान ने जब से पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री पद को ग्रहण किया है तब से लेकर अब तक उनकी भाषा में काफी बदलाव आ चुका है। जब वह पीएम बने थे तो उन्‍होंने भारत की तरफ दोस्‍ती का हाथ बढ़ाते हुए कहा था कि यदि भारत एक कदम आगे बढ़ता है तो वह दो कदम आगे बढ़ने के लिए तैयार हैं। इसके बाद पुलवामा हमले पर अपनी सफाई देते हुए इमरान ने सीधेतौर पर भारत को धमकी दी कि यदि उसने कार्रवाई की तो वह भी जवाबी हमला करने से नहीं चूकेगा।

जम्‍मू कश्‍मीर को दो भागों में बांटने के भारत के फैसले के बाद तो वह वैश्विक मंच पर भी भारत और पूरी दुनिया को धमकी देने से नहीं चूके। संयुक्‍त राष्‍ट्र में दिए भाषण में भी उन्‍होंने भारत पर कई तरह के आरोप लगाए और परमाणु हमले तक की धमकी तक दे डाली। इतना ही नहीं उन्‍होंने उस वक्‍त भी कहा कि इससे पूरी दुनिया प्रभावित हुए बिना नहीं रहेगी। उनके भाषण में सीधेतौर पर दुनिया को धमकी दी गई थी कि यदि उनकी बात नहीं मानी तो इसका खामियाजा सभी को भुगतना होगा। इस भाषण से पहले उन्‍होंने अलजजीरा और रशिया टूडे को दिए इंटरव्‍यू में भी यही बात कही थी।

Input your search keywords and press Enter.