fbpx
Now Reading:
यूपी पुलिस का अमानवीय चेहरा, मासूम को किया सड़ी-गली लाश उठाने पर मजबूर
Full Article 2 minutes read

यूपी पुलिस का अमानवीय चेहरा, मासूम को किया सड़ी-गली लाश उठाने पर मजबूर

यूपी पुलिस एक बार फिर सुर्ख़ियों में है. मामला एक नबालिग से महिला की सड़ी-गली लाश उठवाने का है. घटना का एक वीडियो भी सामने आया है. सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस विभाग हरकत में आया और दोषी पुलिसकर्मियों पर कार्रवाही करते हुए प्रशासन ने दरोगा को लाइन हाजिर कर दिया.

घटना यूपी के मुरादाबाद जिले की है. जहां बीते सोमवार को रामगंगा नदी में सड़ी-गली हालत में एक महिला की लाश मिली थी. जिसे पुलिस ने एक नाबालिग से उठवाया. इस दौरान पुलिस कर्मीशव से करीब 10-15 मीटर दूर खडे़ होकर वीडियो बनाते रहे.

Related Post:  प्रियंका गांधी के सामने ही उनके निजी सचिव ने मीडियाकर्मी को दी धमकी, मामला दर्ज

बताया जा रहा है कि बीते 22 जुलाई को 22 जुलाई को नागफनी थाना क्षेत्र के रामगंगा नदी के किनारे बोरे में एक अज्ञात महिला का शव मिला था. स्थानीय लोगों की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेने के बजाए वहां खड़े एक नाबालिग लड़के से महिला का शव उठवाया. इस दौरान .पुलिसकर्मी शव से करीब 10-15 मीटर दूर खडे़ होकर वीडियो बनाते रहे. जिसे स्थानीय लोगों ने अपने कैमरे में कैद कर लिया. जो देखते ही देखते
फेसबुक, ट्विटर और व्हाट्सएप पर फ़ैल गया.

Related Post:  क्या ये हमारा नया भारत है ? अस्पताल में मौत के बाद भी नहीं मिला एंबुलेंस, कंधे पर शव लेकर घूमते रहे भाई

वीडियो वायरल होते ही राज्य बाल संरक्षण आयोग के अध्यक्ष डॉ विशेष गुप्ता, डीएम राकेश कुमार सिंह ने घटना का संज्ञान लिया और अधिकारीयों को फटकार लगाई. जिसके बाद एसएसपी अमित पाठक ने लापरवाही के आरोप में नागफनी थाने में एसएसआई के पद पर कार्यरत दरोगा मानचंद को लाइन हाजिर कर दिया. साथ ही दरोगा के खिलाफ विभागीय जांच सीओ कोतवाली बलराम सिंह को सौंपी गई है.

Input your search keywords and press Enter.