fbpx
Now Reading:
महिला आरटीओ अफसर की मौत की गुत्थी उलझी, घर के बाथरूम में मिला था शव

महिला आरटीओ अफसर की मौत की गुत्थी उलझी, घर के बाथरूम में मिला था शव

Asmita Dighavkar

मुंबई में तैनात आरटीओ ऑफिसर अस्मिता दिघावकर की मौत की गुत्थी उलझती जा रही है. एक तरफ अस्मिता के पति प्रताप दिघावकर का कहना है कि उनकी पत्नी की मौत बाथरूम में गिरने से हुई है. लेकिन अस्मिता के सिर पर मिले जख्म के निशान कुछ और ही कहानी बयां करते नजर आ रहे हैं. 

गौरतलब है किअस्मिता दिघावकर बीते मंगलवार ठाणे के हीरानंदानी स्टेट के अपने घर में मृत अवस्था में मिली थीं. पुलिस के मुताबिक अस्मिता दिघावकर के मुंह और नाक से खून आ रहा था और उनके सिर पर भी जख्म के निशान थे. ऐसे में यह साफ नहीं हो सका है कि आखिर उनकी मौत की वजह क्या है? अब इस मामले में पुलिस सभी रिपोर्टों का इंतजार कर रही है. हालांकि प्रताप  दिघावकर का कहना है कि उनकी पत्नी की मौत बाथरूम में गिरने से हुई है. 

बताया जा रहा है कि अस्मिता दिघावकर ठाणे के हीरानंदानी स्टेट के अपने घर में  पति और दो बच्चों के साथ रहती थीं.लेकिन बीते मंगलवार की सुबह जब प्रताप मॉर्निंग वॉक से वापस लौटे तो वे अस्मिता के कमरे में गए. लेकिन काफी देर तक उन्हें अंदर से कोई आवाज नहीं आई. जिसके बाद उन्होंने अपनी पत्नी को फोन किया तो उन्होंने फोन का जवाब नहीं दिया. करीब आधे घंटे के इंतजार के बाद वे कमरे का दरवाजा तोड़ कर अंदर दाखिल हुए. जिसके बाद उन्होंने तुरंत डाक्टर को बुलाया जिसने देखते ही अस्मिता को मृत घोषित कर दिया.

आपको बता दें कि प्रताप दिघावकर पीडब्ल्यूएस विभाग में ज्वायंट कमिशनर के पद पर हैं. तो वहीं उनकी पत्नी अंधेरी आरटीओ में डिप्टी रिजनल ट्रांसपोर्ट ऑफिसर के पद पर कार्यरत थीं. मूल रूप से धुले की रहनेवाली अस्मिता और  प्रताप दिघावकर की शादी साल 1988 में हुई थी. वे एआरटीओ के पद पर तैनात होने वाली पहली महिला थीं. 

Related Post:  जेट एयरवेज कर्मचारियों ने कहा, कम वेतन भी चलेगा, देवेन्द्र फडनवीस से की मुलाकात
Input your search keywords and press Enter.