fbpx
Now Reading:
सरयू तट पर बोले योगी, अयोध्या के नाम से डरती थीं पिछली सरकारें
Full Article 2 minutes read

सरयू तट पर बोले योगी, अयोध्या के नाम से डरती थीं पिछली सरकारें

सरयू तट पर नदी का किनारा 5.5 लाख दीयों से जगमग करेगा. ये अपने आप में एक रिकॉर्ड होगा. राम नगरी को राम के रंग में पिरोने के लिए हजारों स्कूली बच्चों की भी खास भूमिका रही है. बच्चों ने भगवान राम के जीवन पर आधारित चित्रकारी से अयोध्या को अलौकिक बना दिया है.

सीएम योगी ने कहा कि राम की परंपरा पर सबको अनुभूति होती है. सीएम योगी ने कहा, ‘मोदी सरकार में बिना किसी भेदभाव के सबका विकास हो रहा है. पिछली सरकारें अयोध्या के नाम से डरती थीं. पीएम मोदी ने राम राज्य की धारणा को साकार किया है. मोदी ने भारत की परंपरा को विश्व पटल पर रखा. भारत दुनिया में विश्वगुरू के रूप में स्थापित हो रहा है.’

रामनगरी में 7 देशों की रामलीला लोगों के आकर्षण का केंद्र है. अयोध्या में थ्री-डी तकनीक से रामकथा के मंथन की तैयारी है. इसके अलावा सरयू तट पर नदी का किनारा 5.5 लाख दीयों से जगमग करेगा. ये अपने आप में एक रिकॉर्ड होगा. राम नगरी को राम के रंग में पिरोने के लिए हजारों स्कूली बच्चों की भी खास भूमिका रही है. बच्चों ने भगवान राम के जीवन पर आधारित चित्रकारी से अयोध्या को अलौकिक बना दिया है.

पिछले दो साल से अयोध्या में ऐतिहासिक दिवाली मनाने वाली योगी सरकार इस बार रिकॉर्ड बनाने जा रही है. आज शाम अयोध्या में एक साथ 5.5 लाख दीये जलाकर योगी सरकार अपने ही पिछले रिकॉर्ड को तोड़कर नया इतिहास रचेगी.

‘पुष्पक विमान’ में पहुंचें राम और सीता
हर साल की तरह इस बार भी अयोध्या के आसमान में पुष्पक विमान रूपी हेलिकॉप्टर में बैठकर राम, सीता और लक्ष्मण अयोध्या पहुंचे. राम कथा पार्क में उन पर फूलों की वर्षा हुई. खुद योगी आदित्यनाथ ने उनका स्वागत किया. राम, सीता और लक्ष्मण के प्रतीक बने कलाकारों की आरती भी उतारी गई.

पिछले साल जलाए गए थे 3 लाख दिए पिछली बार की तरह इस बार भी सरयू के घाट पर भव्य आरती होगी, जिसमें योगी आदित्यनाथ भी हिस्सा लेंगे. राम की पैड़ी पर साल दर साल दीप जलाने की क्षमता को योगी सरकार बढ़ाती आ रही है. इस बार 5.5 लाख दीये सजाए गए हैं. पिछले साल 3 लाख दीये जलाए गए थे.

Input your search keywords and press Enter.