fbpx
Post Retirement Truth:  आखिर सच बोलने की ये ताकत कहां छुपी होती है

Post Retirement Truth:  आखिर सच बोलने की ये ताकत कहां छुपी होती है

मौजूदा दौर Post Truth का है या नहीं, इस पर बहस हो सकती है. लेकिन ये दौर Post Retirement Truth का है, इसमें कोई शक नहीं है. Post Retirement Truth, यानी नौकरी से अवकाश प्राप्त होने की बाद किसी बडे...

मोतीहारी: महात्मा गांधी सेंट्रल यूनिवर्सिटी:- वीसी की पीएचडी डिग्री के दावे का सच और सवाल!

मोतीहारी: महात्मा गांधी सेंट्रल यूनिवर्सिटी:- वीसी की पीएचडी डिग्री के दावे का सच और सवाल!

महात्मा गांधी केंद्रीय विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर अरविंद अग्रवाल ने विश्वविद्यालय के कुलपति पद के लिए जो आवेदन किया था, उसमें पीएचडी विषयक महत्वपूर्ण जानकारियां गलत दी हैं. मानव संसाधन विकास मंत्रालय के उच्च शिक्षा विभाग के डिप्टी सेक्रेटरी के...

ट्राइबल सब प्लान, आदिवासी विकास नहीं विनाश की योजना

ट्राइबल सब प्लान, आदिवासी विकास नहीं विनाश की योजना

योजना आयोग द्वारा सुझाई गई और भारत सरकार द्वारा अपनाई गई एक योजना है, ट्राइबल सब प्लान. संक्षेप में, एक ऐसा फंड जिसका इस्तेमाल खनन प्रभावित आदिवासी क्षेत्रों और आदिवासी समुदायों के लिए किया जाना था. हरेक मंत्रालय को अपने...

चुनाव आयोग ने आधार कार्ड क्यों मांगे थे?

चुनाव आयोग ने आधार कार्ड क्यों मांगे थे?

3 मार्च 2015 को चुनाव आयोग ने नेशनल इलेक्टोरल रोल प्योरीफिकेशन एंड ऑथेंटिकेशन प्रोग्राम (नेरपाप) लॉन्च किया था. इस कार्यक्रम के तहत मतदाताओं के एपिक डेटा (वोटर कार्ड डेटा) को आधार कार्ड के साथ लिंक और ऑथेंटिकेट किया जाना था....

चुनाव आयोग के पास 32 करोड़ मतदाताओं के आधार कार्ड, आधार को वोटर कार्ड से लिंक किया तो…

चुनाव आयोग के पास 32 करोड़ मतदाताओं के आधार कार्ड, आधार को वोटर कार्ड से लिंक किया तो…

वन वोट वन वैल्यू. अमीर-गरीब, सबके एक वोट का समान महत्व है. ऐसे में, अगर वोटर कार्ड को आधार से लिंक किया गया, तो इसकी क्या गारंटी है कि आपका वोट गुप्त रह पाएगा. आधार पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई...

गोरखपुर लोकसभा उपचुनाव, दो संत हो सकते हैं आमने-सामने

गोरखपुर लोकसभा उपचुनाव, दो संत हो सकते हैं आमने-सामने

गोरखपुर लोकसभा क्षेत्र से वहां के सांसद योगी आदित्यनाथ ने त्यागपत्र दे दिया है. वे उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री हैं. अब उनकी जगह चुनाव कौन लड़ेगा? इसके ऊपर चारो तरफ कयास लगाए जा रहे हैं. इस बीच, विश्व हिन्दू परिषद...

सुप्रीम कोर्ट जज प्रकरण : जज ही जब न्याय मांगें तो जनता को कहां मिलेगा न्याय

सुप्रीम कोर्ट जज प्रकरण : जज ही जब न्याय मांगें तो जनता को कहां मिलेगा न्याय

भारतीय इतिहास में जब पहली बार सुप्रीम कोर्ट के चार जजों (जस्टिस जे चेलमेश्वर, जस्टिस रंजन गोगोई, जस्टिस मदन बी लोकुर, जस्टिस कुरियन जोस़फ) ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मुख्य न्यायाधीश श्री दीपक मिश्रा को लेकर सवाल उठाए तो देश भर...

राष्ट्रीय स्वास्थ्य नीति: बीमार भारत के लिए काफी नहीं

राष्ट्रीय स्वास्थ्य नीति: बीमार भारत के लिए काफी नहीं

गोरखपुर की घटना भूल जाइए, अगर भूल सकते हैं. दिल्ली आइए, देश की राजधानी. यहां पांच सितारा अस्पताल है. जहां जिन्दा बच्चे को मृत बता दिया जाता है, क्योंकि परिवार ने लाखों रुपए देने में असमर्थता जताई थी. दिल्ली के...

राष्ट्रीय किसान महासंघ, अब दिल्ली ही घेरेंगे

राष्ट्रीय किसान महासंघ, अब दिल्ली ही घेरेंगे

भारत में किसानों और किसानी का हाल जानने के लिए किसी रॉकेट साइंस को समझने की जरूरत नहीं है. बस, एक आंकड़ा किसानों की पूरी हकीकत बयान कर देता है. 1951 से लेकर आज तक, भारत की जीडीपी में कृषि...

गुजरात में क्या होगा

गुजरात में क्या होगा

14 नवंबर को भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता यशवंत सिन्हा अहमदाबाद में थे. वहां उनका एक भाषण हुआ, जिसे सुनने के लिए युवा से ले कर बुजुर्ग तक काफी संख्या में पहुंचे. उन्होंने बहुत सारी बातें कही, लेकिन तीन-चार...

सरकार मज़दूरों के ख़िलाफ़ है : मज़दूर संगठन

सरकार मज़दूरों के ख़िलाफ़ है : मज़दूर संगठन

अभी कुछ ही दिन पहले सेंटर फॉर मॉनिटरिंग इंडियन इकोनॉमी की एक रिपोर्ट आई थी, जो बताती है कि साल 2017 के पहले चार महीने, जनवरी 2017 से अप्रैल 2017 के बीच तकरीबन 1.5 मिलियन यानि 15 लाख नौकरियां समाप्त...

भूखे भारत से कैसा होगा न्यू इंडिया 

भूखे भारत से कैसा होगा न्यू इंडिया 

हंगर इंडेक्स क्या है? इसका आसान अर्थ ये है कि अगर किसी देश का हंगर इंडेक्स अधिक है, तो इसका मतलब है कि उस देश में भूख की समस्या भी अधिक है. ग्लोबल हंगर इंडेक्स को चार पैमाने पर नापा...

ये देश है बदहाल किसानों का

ये देश है बदहाल किसानों का

जयपुर में पिछले कई दिनों से किसान खुद को जीते जी गड्‌ढे में गाड़ कर अपनी जमीन बचाने के लिए आन्दोलन कर रहे हैं. मध्य प्रदेश के टीकमगढ़ में किसानों को पुलिस ने नंगा कर के पीटा. शिरडी में राष्ट्रपति...

जुमला साबित हो सकता है 2019 तक सबको शौचालय का लक्ष्य

जुमला साबित हो सकता है 2019 तक सबको शौचालय का लक्ष्य

साल 2019 के 2 अक्टूबर तक पूरे भारत को खुले में शौच से  मुक्त कराने का लक्ष्य सरकार ने रखा है. 2 अक्टूबर 2019 तक करीब 8 करोड़ शौचालय बनाने की जरूरत है, ताकि भारत को खुले में शौच मुक्त...

एक फीसदी जनता के लिए ही देश चमक रहा है

एक फीसदी जनता के लिए ही देश चमक रहा है

देश में आर्थिक विषमता की स्थिति क्या है, इसे हम सब जानते हैं, लेकिन इस पर देश के भीतर कोई खास स्टडी नहीं होती. हाल में एक फ्रेंच अर्थशास्त्री थॉमस पिकेटी ने अपनी स्टडी में बताया है कि कैसे साल...

ऐसे ही बेरोजगारों की फौज से बनेगा न्यू इंडिया

ऐसे ही बेरोजगारों की फौज से बनेगा न्यू इंडिया

सेंटर फॉर मॉनिटरिंग इंडियन इकोनॉमी की एक रिपोर्ट आई है. ये रिपोर्ट एक सर्वे पर आधारित है. ये सर्वे तकरीबन 1 लाख 70 हजार घरों पर किया गया है. ये रिपोर्ट बताती है कि साल 2017 के पहले चार महीने,...

एचएल प्रमोटर्स प्राइवेट लिमिटेड कर रहा है ग्राहकों से धोखाधड़ी

एचएल प्रमोटर्स प्राइवेट लिमिटेड कर रहा है ग्राहकों से धोखाधड़ी

कौन नहीं चाहता कि उसका अपना खुद का एक घर हो. इस सपने को पूरा करने के लिए आदमी अपने जीवन भर की कमाई एक बिल्डर के हाथों में सौंप देता है. लेकिन आमतौर पर ग्राहकों को बिल्डर से कई...

किसान जींस भी पहन सकते हैं आंदोलन भी कर सकते हैं

किसान जींस भी पहन सकते हैं आंदोलन भी कर सकते हैं

आखिर वे कौन लोग हैं, जिन्हें किसान के बाइक पर चलने या जींस पहनने से आपत्ति है. जाहिर है, ऐसी मानसिकता के लोग ये कभी नहीं चाहेंगे कि किसान अपने हक के लिए लड़ें, आंदोलन करें. लेकिन पहली बार किसानों...

केजरीवाल की अनसुनी कहानी

केजरीवाल की अनसुनी कहानी

पंजाब – से किसने केजरीवाल को मिसलीड और मिसगाइड किया किसने चलाई अपनी मर्ज़ी गोवा – में जब पंकज गुप्ता प्रभारी थे तब आशीष तलवार को किसके कहने पर गोवा भेजा गया गुजरात – राष्ट्रपति चुनाव को लेकर क्या  रहेगा रुख,...

मूल्यों में परिवर्तन से क्रांति आती है : महादेव विद्रोही

मूल्यों में परिवर्तन से क्रांति आती है : महादेव विद्रोही

आप लंबे समय से इस संगठन से जुड़े रहे हैं. अभी आप राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं. तब और अब के बीच सर्व सेवा संघ में आप क्या अंतर देखते हैं? सबसे बड़ा अंतर तो यही है कि पहले इस संगठन के...

तीन साल, देश का हाल	– कृषि, रोजगार, कालाधन, नकली नोट और नोटबंदी

तीन साल, देश का हाल – कृषि, रोजगार, कालाधन, नकली नोट और नोटबंदी

काम नहीं हाथ में, विकास किसके साथ में! आगामी तीन साल के दौरान भारत की आईटी कंपनियों में काम कर रहे हजारों लोगों की नौकरी खतरे में है. ऐसी रिपोट्‌र्स आ रही हैं कि कुछ आईटी कंपनियों ने फरवरी से...

मध्य प्रदेश : चुटका परमाणु परियोजना विस्थापित फिर होंगे विस्थापित नर्मदा का बढ़ेगा प्रदूषण

मध्य प्रदेश : चुटका परमाणु परियोजना विस्थापित फिर होंगे विस्थापित नर्मदा का बढ़ेगा प्रदूषण

विकास के नारे के नीचे जल-जंगल-जमीन को खोखला करना कोई नई बात नहीं है. बेहतरी का सपना दिखा कर वर्तमान को बदरंग बनाना व्यवस्था का पुराना शगल रहा है. हालांकि ये सिर्फ पारिस्थितिकी और पर्यावरण के लिए ही खतरा नहीं,...

बीसीसीएल-डीवीसी-धनवाद : कोयला घोटाला + फर्जी विस्थापित दो घोटालों की एक कहानी

बीसीसीएल-डीवीसी-धनवाद : कोयला घोटाला + फर्जी विस्थापित दो घोटालों की एक कहानी

25 साल पुराने एक घोटाले की कहानी अभी क्यों? इसलिए, क्योंकि इससे जुड़े दस्तावेज बताते हैं कि सारी जानकारी दिए जाने के बाद भी सरकारें इस घोटाले की जांच करवाने से कतरा रही हैं या यूं कहें कि सरकारें इस...

दामोदर वैली कॉरपोरेशन में 9000 फर्जी विस्थापितों का मामला, यानि एक और घोटाला

दामोदर वैली कॉरपोरेशन में 9000 फर्जी विस्थापितों का मामला, यानि एक और घोटाला

शशि शेखर : 1953 में दामोदर वैली कॉरपोरेशन की नींव रखी गई थी. जनहित के नाम पर झारखण्ड के धनबाद, जामतारा और पश्चिम बंगाल के पुरुलिया और वर्धमान जिलों के लगभग 41 हज़ार एकड़ ज़मीन के साथ ही चार हजार...

बीसीसीएल-धनबाद: कोल शॉर्टेज या कोयला घोटाला

बीसीसीएल-धनबाद: कोल शॉर्टेज या कोयला घोटाला

नई दिल्ली, (शशि शेखर) : 26 लाख करोड़ या 1.86 लाख करोड़ के कोयला घोटाले के बाद एक और कोयला घोटाला हमारे सामने है. हमारे दस्तावेज बताते हैं कि ये घोटाला ही है. भारत कोकिंग कोल लिमिटेड (बीसीसीएल) चाहे, तो...

सरकार की बेशर्मी और बेहयाई से लोग नग्न होने पर मजबूर

सरकार की बेशर्मी और बेहयाई से लोग नग्न होने पर मजबूर

इस कहानी को प़ढने की जरूरत नहीं है. सिर्फ तस्वीर देखिए. एक-एक तस्वीर हजार शब्दों की कहानी को खुद में समेटे हुए है. इन तस्वीरों को देखने के बाद अगर आपकी आत्मा आपको नहीं झकझोरती, तो दो मिनट के लिए...

मोदी सरकार के दो साल : देश बढ़ता रहा किसान मरता रहा

मोदी सरकार के दो साल : देश बढ़ता रहा किसान मरता रहा

कहां तो तय था चिरागां हरेक घर के लिए, अब तो चिराग भी मयस्सर नहीं शहर के लिए. अगर बात प्रधानमंत्री मोदी के वादों और किसानों के मौजूदा हालात पर की जाए तो यह शेर एकदम फिट बैठता है. नेशनल...

प्रधानमंत्री का राष्ट्र के नाम संदेश : देश ने 50 दिन दिया, देश को क्या मिला

प्रधानमंत्री का राष्ट्र के नाम संदेश : देश ने 50 दिन दिया, देश को क्या मिला

कम बोलना ज्यादा बोलने से कम खतरनाक होता है. इस बात को हाल के वर्षों में किसी ने सही तरीके से समझा था तो वो थे तत्कालीन प्रधानमंत्री पीवी नरसिम्हा राव. अल्पमत सरकार को 5 साल तक बिना किसी परेशानी...

देश की आर्थिक राजधानी का तमगा छिन गया है,

देश की आर्थिक राजधानी का तमगा छिन गया है,

चौथी दुनिया ब्यूरो: अब तक कहते रहे है कि दिल्ली दिलवालोँ की है और मुँबई पैसेवालोँ की. लेकिन अब ये मुहाबरा बदल जाएगा क्योंकि मुँबई से देश की आर्थिक राजधानी का तमगा छीन गया है. दिल्ली को ये नया खिताब मिला...

चिदंबरम साहब दे देते इस्तीफा, फिर विदेश मेँ नोट क्योँ छपवाया

चिदंबरम साहब दे देते इस्तीफा, फिर विदेश मेँ नोट क्योँ छपवाया

नोटबन्दी के मसले पर कांग्रेस नेता पी चिदंबरम ने कहा है कि अगर वह वित्त मंत्री होते और प्रधानमंत्री नोटबंदी पर जोर देते तो वह इस्तीफा दे देते. पूर्व वित्त मंत्री का कहना है कि अगर प्रधानमंत्री मुझसे कहते कि...

Input your search keywords and press Enter.