fbpx
Now Reading:
भारत के पलटवार के डर से गिड़गिड़ाए इमरान, कहा शांति का एक मौका दीजिए, ज़ुबान पर कायम रहूंगा

भारत के पलटवार के डर से गिड़गिड़ाए इमरान, कहा शांति का एक मौका दीजिए, ज़ुबान पर कायम रहूंगा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पाकिस्तानी पीएम इमरान को अपनी जुबान की कसौटी पर तौलने की जब बात की तब पाकिस्तानी प्रधानमंत्री ने एकबार फिर बड़ी बात कर दी है. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने रविवार को शांति का एक मौका देने की बात कही और यकीन दिलाया कि अगर भारत सरकार पाकिस्तान को पुलवामा हमले के सबूत सौंपेगी तो वो इस पर तुरंत कार्रवाई करेंगे. पाकिस्तान के पीएम इमरान खान ने पुलवामा हमले के सबूत मिलने पर कार्रवाई का भरोसा जताया है. जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के काफीले पर हुए आतंकी हमले के बाद से भारत ने पाकिस्तान को घेरने के कई कदम उठाए हैं, जिसके बाद पाकिस्तान अब बैकफुट पर आ गया है.
पठान के बच्चे को कसौटी पर तौलने का वक्त 
पाकिस्तान के PMO से जारी बयान के मुताबिक, ‘प्रधानमंत्री इमरान खान अपनी जुबान पर कायम हैं कि अगर भारत कार्रवाई योग्य खुफिया जानकारी देता है तो हमलोग तत्काल कार्रवाई करेंगे.’इमरान खान की ये टिप्पणी राजस्थान में पीएम मोदी की उस रैली के बाद आई है, जिसमें उन्होंने कहा था, ‘आतंकवाद के खिलाफ पूरी दुनिया में आम सहमति है. आतंकवाद के दोषियों को दंडित करने के लिये हम मजबूती से आगे बढ़ रहे हैं. इस बार हिसाब होगा और बराबर होगा. ये बदला हुआ भारत है, इस दर्द को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. हम जानते हैं आतंकवाद को कैसे कुचलना है.’पाकिस्तान का प्रधानमंत्री बनने के बाद इमरान खान को बधाई देने के लिये फोन पर उनके साथ हुई अपनी बातचीत को याद करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि मैंने उनसे कहा, ‘आइए ये गरीबी और अशिक्षा के खिलाफ लड़ाई लड़ें. इस पर खान ने कहा था कि मोदीजी मैं पठान का बच्चा हूं, सच्चा बोलता हूं, सच्चा करता हूं. आज उनके शब्दों को कसौटी पर तौलने का वक्त है.’
बड़ी बात कर के हर बार मुकर गया है पाकिस्तान 
बड़ी बड़ी बाते कर के एन वक्त पर अपने वाडे से मुकर जाना पाकिस्तान की फितरत रही है. इसलिए भारत सरकार का आरोप है कि पाकिस्तान ने कभी अपने वादे नहीं निभाए हैं. मुंबई हमला हो या पठानकोट आतंकी हमला, पक्के सबूत सौंपे जाने के बावजूद पाकिस्तान ने आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं की. हाल ही में पुलवामा के आतंकी हमले के बाद डोनाल्ड ट्रंप ने पाकिस्तान को अमेरिकी मदद रोकने का ज़िक्र करते हुए कहा कि पाकिस्तान ने अमेरिका के साथ वादा खिलाफी की, इसलिए उनकी मदद हमने रोक दी. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ने कहा कि पाकिस्तान ने अमेरिकी मदद का गलत फायदा उठाया. पाकिस्तान ने अमेरिका को धोखा दिया, इस वजह से पाक को 1.3 अरब डॉलर की मदद रोकी गई. अब ये देखना दिलचस्प होगा कि पाकिस्तान के इस माया जाल में पीएम मोदी फंसते हैं या नहीं ?
Input your search keywords and press Enter.