fbpx
Now Reading:
कांग्रेस विधायक अदिति सिंह का बड़ा आरोप- सरकार और जिला पंचायत अध्यक्ष अवधेश सिंह ने मुझपर कराया जानलेवा हमला

कांग्रेस विधायक अदिति सिंह का बड़ा आरोप- सरकार और जिला पंचायत अध्यक्ष अवधेश सिंह ने मुझपर कराया जानलेवा हमला

रायबरेली: कांग्रेस विधायक अदिति सिंह ने जिला पंचायत अध्यक्ष अवधेश सिंह पर आरोप लगाया कि उन्होंने उनके (अदिति के) ऊपर जानलेवा हमला कराया. अदिति सिंह की कार रायबरेली-लखनऊ राजमार्ग पर कथित तौर पर पलट गई, जिससे उन्हें चोटें आई हैं.

अदिति सिंह ने मीडिया से कहा, “मेरी घेराबंदी कर मुझ पर हमला करवाया गया. शासन-प्रशासन अभी भी चुप है और कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है. हमलावरों के पास हथियार थे. मेरी गाड़ी की घेराबंदी कर पत्थर फेंके गए और मुझे जान से मारने की कोशिश की गई.”

Related Post:  नवजोत सिंह सिद्धू का पंजाब मंत्रिमंडल से इस्तीफा, ट्वीट कर दी जानकारी

अदिति सिंह ने एक बयान में कहा कि दिनेश सिंह ने अपने स्कूल के सामने मुझपर घेराबंदी करके हमला कराया. उनके पास हथियार थे, पत्थर थे, आयरन रॉड थे उससे मुझपर हमला हुआ. माता रानी की कृपा से मैं बच गयी. मेरे ड्राइवर ने व अन्य ने बयान दिया है.

उल्लेखनीय है कि अवधेश सिंह लोकसभा चुनाव में रायबरेली सीट से भाजपा उम्मीदवार दिनेश सिंह के भाई हैं और अदिति से उनकी कथित तौर पर राजनीतिक प्रतिद्वंद्विता है.

Related Post:  बंगाल के अधीर रंजन चौधरी बनाए गए लोकसभा में विपक्ष के नेता, PM नरेंद्र मोदी भी कर चुके हैं तारीफ

क्या है पूरा मामला

रायबरेली की सदर सीट से विधायक अदिति सिंह के काफिले पर जानलेवा हमला हुआ है. इस हमले में उनकी और काफिले में शामिल गाड़ियां अनियंत्रित होकर पलट गई. इस घटना में अदिति सिंह भी घायल हुई हैं. अदिति सिंह ने बीजेपी नेता व 2019 लोकसभा रायबरेली के प्रत्याशी दिनेश प्रताप सिंह पर हमले कराने का आरोप लगाया है. यह घटना हरचंदपुर थाना क्षेत्र के कठवारा के पास की है.

दरअसल, अदिति सिंह रायबरेली जिला पंचायत अध्यक्ष अवधेश सिंह के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पर हो रही वोटिंग में अपने समर्थकों के साथ जा रही थीं. अवधेश सिंह, सोनिया गांधी के खिलाफ चुनाव लड़ रहे बीजेपी प्रत्याशी दिनेश सिंह के भाई हैं.

Related Post:  कांग्रेस के लिए राहत की खबर: कर्नाटक स्थानीय निकाय चुनाव में जीती सबसे ज्यादा सीटें

मामला बीजेपी नेता दिनेश प्रताप सिंह और कांग्रेस विधायक अदिति का है लिहाजा इस मामले में लखनऊ में बैठे अफसर भी कुछ भी बोलने से कतरा रहे हैं. यह अलग बात है कि अफसर रायबरेली पुलिस से पल-पल की जानकारी ले रहे हैं लेकिन कैमरे पर कोई कुछ भी नहीं बता रहा.

Input your search keywords and press Enter.