fbpx
Now Reading:
सैटेलाइट तस्वीरों के ज़रिये दावा आज भी खड़ा जैश का ट्रेनिंग कैम्प, दूसरी तस्वीर में गायब टेन्ट और जलने के निशान
Full Article 3 minutes read

सैटेलाइट तस्वीरों के ज़रिये दावा आज भी खड़ा जैश का ट्रेनिंग कैम्प, दूसरी तस्वीर में गायब टेन्ट और जलने के निशान

नई दिल्ली: पुलवामा आतांकि हमले के बाद भारतीय वायुसेना द्वारा किये गए एयर स्ट्राइक के बाद एक बार फिर ये दावा किया जा रहा है कि, पाकिस्तान के बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद के ट्रेनिंग कैंप में ज़्यादा नुक्सान नहीं हुआ है। ये दावा अंतराष्ट्रीय मीडिया एजेंसू रायटर्स कि तरफ से किया गया है। हालाँकि कुछ और उपग्रही तस्वीर भी सामने आईं हैं जिसमे कैम्प इमारत और उसके आस पास चार काले धब्बे नज़र आते हैं। इस कैंप को भारतीय वायुसेना ने 26 फरवरी को हवाई हमले का निशाना बनाया था।

Satellite images show madrasa buildings still standing at scene of Indian bombing

Satellite images show madrasa buildings still standing at scene of Indian bombing

तस्वीरें Planet Labs Inc, सन फ्रांसिस्को स्तिथ एक निजी सैटेलाइट ऑपरेटर ने सामने लाइ है। उनका दावा है कि तस्वीरों में आज भी एयर स्ट्राइक वाली जगह पर करीब जैश के 6 कैंपस आज भी दिखाई दे रहे हैं। लैब का दावा है कि तस्वीरें हमले के 6 दिन बाद 4 मार्च को ली गईं हैं।

Related Post:  कुलभूषण जाधव मामले में ICJ झटका लगने के बावजूद इमरान खान ने थपथपाई अपनी पीठ 

वहीँ दूसरी तरफ कुछ और तस्वीरें भी भारतीय एजेंसी सूत्रों के ज़रिये सामने आये हैं। इन तस्वीरों में जैश के ठिकानों और उसके आस पास कई काले धब्बे दिखाई दे रहे है। कहा जा रहा है कि ये काले निशान संभवतः भारतीय वायुसेना के स्मार्ट बमों के हमले के बाद बने हैं। बताया जा रहा है कि एयर स्ट्राइक के दौरान जो बम आतंकी ठिकानों पर बरसाए गए थे वह कैम्प के लोहे की शीट वाली छतों को बेधते हुए अंदर गिरे थे दिया, जिन्हें एक बार फिर नई शीटों बनाकर नए सिरे पेंट कर दिया गया है।

Satellite images show madrasa buildings still standing at scene of Indian bombing

Satellite images show madrasa buildings still standing at scene of Indian bombing

साथ ही ये भी दावा किया गया ही कि सत्तारूढ़ बीजेपी जिस तरह से जैश कैंप को ख़त्म करने का दावा कर रही है, वैसा नहीं है कैम्प को शायद उतना नुकसान नहीं पहुंचा है जितना कि बताया जा रहा है।

Related Post:  जमात-ए-इस्लामी का नया कैंप, आतंकियों का नया अड्डा, मिलकर J&K पर हमले की साजिश

हमले से पहले कि जो तस्वीर है उसमे बालाकोट स्तिथ जाबा टॉप पर 17 मी। X 6 मी। आकार के दो बड़े टेन्ट दिखाई दे रहे थे। लेकिन 4 मार्च को ली गई तस्वीरों में ये टेन्ट गायब हैं। इसका यही मतलब है कि या तो उन्हें हटा दिया गया या वे भारतीय वायुसेना की बमबारी में ध्वस्त हो गए।

Satellite images show madrasa buildings still standing at scene of Indian bombing

इंडियन एयरफोर्स ने जिस के ठिकानों पर कि थी बमबारी

Related Post:  बॉलीवुड एक्टर अनुपम खेर बोले- ‘कश्मीर समाधान’ शुरू हो गया, लोगों ने जमकर लताड़ा

पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद भारतीय वायुसेना ने हमले में शामिल के बाद 26 फरवरी पाकिस्तान के खैबर-पख्तूनख्वा प्रांत के मनसेहरा जिले के बालाकोट स्थित जैश के शिविर को निशाना बनाया था।

सरकार और विदेश सचिव विजय गोखले ने दवा किया था था कि ‘भारत ने बालाकोट में जैश के सबसे बड़े प्रशिक्षण शिविर को निशाना बनाया है। इस ऑपरेशन में बड़ी संख्या में जैश के आतंकवादी, प्रशिक्षक, सीनियर कमांडर और फिदायीन हमलों की ट्रेनिंग पा रहे जिहादियों के समूहों का खात्मा कर दिया गया। बालाकोट का यह शिविर जैश प्रमुख मसूद अज़हर के जीजा मौलाना युसूफ़ अज़हर (उर्फ उस्ताद गौरी) के नेतृत्व में चलाया जा रहा था।’

Input your search keywords and press Enter.