fbpx
Now Reading:
निर्दयी बाप ने बेटियों को झील में फेंका, अनजान युवक ने बचाई जान, बाप की पिटाई पर बेटियों ने कहा माफ़ कर दो
Full Article 2 minutes read

निर्दयी बाप ने बेटियों को झील में फेंका, अनजान युवक ने बचाई जान, बाप की पिटाई पर बेटियों ने कहा माफ़ कर दो

बंगाणा. पंजाब के बंगाणा से पिता की निर्दयता की खबर सामने आयी है जहां एक पिता ने अपनी ही दो नाबालिग बेटियों को मोटर बोट से झील में धक्का दे दिया। इसके बाद एक अनजान युवक ने अपनी जान पर खेलकर दोनों लड़कियों की जान बचाई। मौजूद लोगों ने बच्चियों के पिता की पिटाई करनी चाही तो बच्चियों ने उनकी जान लेने की कोशिश करने वाले पिता को लोगों से माफ करने की अपील कर उसे बचा लिया।
पुलिस ने मौके पर पहुंचकर आरोपी के खिलाफ हत्या के प्रयास का मामला दर्ज कर उसे गिरफतार कर लिया है। मामले में जांच शुरू कर दी गई है। मिली जानकारी के मुताबिक पंजाब के जगराओं के करीब गांव सदवां बीत निवासी चमकौर सिंह अपनी पत्नी, दो बेटियों, बेटे, भाई, भाभी और उनके दोनों बच्चों के साथ बाबा बालक नाथ मंदिर दियोटसिद्ध में माथा टेकने पहुंचा था।
परिवार लाठियानी कस्बे से झील के रास्ते वापस लौट रहा था। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक मोटर बोट जब झील के करीब बीच में थी, तो चमकौर सिंह ने अचानक पहले अपनी 12 वर्ष की बेटी हरमन को झील में धक्का दे दिया। साथ ही 5 वर्षीय दूसरी बेटी को भी झील में धकेल दिया।

Related Post:  मनाली : अचानक धूं-धूं कर जलने लगी वोल्वो बस, चंद मिनटों में जलकर हुई राख

इसी बोट में सवार स्थानीय निवासी सुनील कुमार ने झील में कूद कर दोनों बेटियों को सुरक्षित बचा लिया। बच्चियां इस घटना के बाद सहमी हुई हैं। मामले के बाद आरोपी की पत्नी और भाई ने पुलिस को दिए बयान में बताया कि चमकौर कभी भी मानसिक रूप से बीमार पड़ जाता है।  पर पुलिस के मुताबिक परिवार चमकौर के मानसिक रोगी होने के संबंध में कोई दस्तावेज नहीं दिखा सका है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

Related Post:  मनाली के पतलीकूहल में दो लोग व्यास नदी के बीचो बीच फंसे, लेकिन निकालने से पहले ही...
Input your search keywords and press Enter.