fbpx
Now Reading:
गुजरातः अडानी के अस्पताल में 5 सालों में मर गए 1000 हजार से ज्यादा बच्चे, लेकिन कोई कार्यवाही नहीं
Full Article 2 minutes read

गुजरातः अडानी के अस्पताल में 5 सालों में मर गए 1000 हजार से ज्यादा बच्चे, लेकिन कोई कार्यवाही नहीं

गुजरात विधानसभा में बुधवार को एक चौंकाने वाली रिपोर्ट सामने आई है। रिपोर्ट भारत के सबसे बड़े कारोबारी गौतम अडानी के अस्पताल से जुडी है।इस रिपोर्ट के कहा गया है कि, उद्योगपति गौतम अडाणी के जीके जनरल हॉस्पिटल में पिछले पांच सालों में 1000 से भी ज्यादा बच्चों की मौत हुई है।
गुजरात के कच्छ जिले में स्थित भुज गांव में अडाणी फाउंडेशन एक अस्पताल चलता है, ये आंकड़ा उसी अस्पताल का है।

मामला तब संज्ञान में आया जब कांग्रेस विधायक संतोकबेन सेठिया की तरफ से पूछे गए सवाल पर राज्य के उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल ने लिखित जवाब में यह जानकारी दी। उनके मुताबिक पांच सालों में उक्त हॉस्पिटल में 1018 बच्चों की मौत हो गई है।

Related Post:  INX Media Case : चिदंबरम पर लटकी गिरफ्तारी की तलवार, SC में शुक्रवार होगी मामले की सुनवाई

उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल ने लिखित जवाब के मुताबिक, इस पूरे मामले कि जाँच के लिए पिछले साल यानी 2018 में जांच समिति बनी थी। उनकी जांच में ही ये पूरी जानकारी सामने आई है। उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल की तरफ से बताए गए आंकड़ों के मुताबिक 2014-15 में 188, 2015-16 में 187, 2016-17 में 208, 2017-18 में 276, 2018-19 में अब तक 159 बच्चों की मौत हो गई है। पटेल ने इन मौतों के कारण जानने के लिए मई 2018 में एक जांच समिति भी गठित की गई थी। समिति ने अपनी रिपोर्ट में बच्चों की मौत के पीछे कई अलग-अलग कारण बताए हैं, जिनमें समय से पहले जन्मे (प्री-मैच्योर) बच्चे, संक्रामक बीमारियां, सांस लेने में दिक्कतें, दम घुटना, खून में खराबी आदि शामिल हैं।

Related Post:  10 साल पहले गोपाल कांडा ने हुड्डा के लिए जुटाए थे निर्दलीय, तब भी थे 31-40 वाले नतीजे
Input your search keywords and press Enter.