fbpx
Now Reading:
सौरव गांगुली के जन्मदिन पर, जानिए उनसे जुड़े अनसुने किस्से

सौरव गांगुली के जन्मदिन पर, जानिए उनसे जुड़े अनसुने किस्से

मुंबई: 8 जुलाई 1972 को पश्चिम बंगाल में जन्मे ‘प्रिंस ऑफ कोलकाता’ और ‘दादा’ नाम से मशहूर सौरव गांगुली ने ने भारतीय भविष्य के लिए सबसे बेहतरीन कैप्टन दिया। भले ही दादा इंडिया को वर्ल्डकप ना दिला सके लेकिन वो जानते थे कि महेंद्र सिंह धोनी में वो क्षमता है जो भारत को वर्ल्डकप दिला सकती है।

बात है दिसंबर 2004 की। धौनी को पहला मौका गांगुली ने बांग्लादेश के खिलाफ वनडे सीरीज में दिया था। वह लगातार तीन मैचों में कुछ खास नहीं कर पाए। फिर भी गांगुली ने उन्हें मौका दिया। अब अगला मुकाबला विशाखापत्तनम में पाकिस्तान के खिलाफ होना था। इस बार गांगुली ने धौनी को बल्लेबाजी क्रम में ऊपर तीसरे नंबर पर भेज दिया। अगले दिन अखबारों की हेडलाइन थी, ‘अरे दीवनों, मुझे पहचानों, मैं हूं MSD’। धौनी ने इस मैच में 148 रनों की ताबड़तोड़ बल्लेबाजी की थी।

Related Post:  ICC World Cup 2019 England vs New Zealand Live Cricket Score : इंग्लैंड ने न्यूजीलैंड को 306 रन का लक्ष्य दिया

दुनिया में ऐसे बहुत से खिलाड़ी हुए हैं जिन्‍होंने उम्‍दा प्रदर्शन के बलबूते अपना नाम रोशन किया है, लेकिन ऐसे कम ही रहे हैं जो नाम रोशन करने के साथ ही दूसरों की काबिलियत आंकने का हुनर जानते हों। ये दोनों खूबियां भारतीय क्रिकेट के सुपरस्‍टार सौरव गांगुली में थीं।

सौरव गांगुली ने डोना से की थी शादी, खुद परिवार को नहीं था मालूम
सौरव जब फुटबॉल की प्रैक्टिस करते, तो डोना रॉय कई बार वहां से गुजरतीं और दोनों की मुलाकात हो जाती। ये मुलाकात कब प्यार में बदल गई, पता तक ना चला। सौरव जब फुटबॉल की प्रैक्टिस करते, तो डोना रॉय कई बार वहां से गुजरतीं और दोनों की मुलाकात हो जाती। ये मुलाकात कब प्यार में बदल गई, पता तक ना चला।

Related Post:  World Cup 2019 ENGvBAN : बांग्लादेश के खिलाफ रॉय और बटलर की तूफानी पारी, इंग्लैंड ने बनाये छह विकेट पर 386 रन

सौरव सेंट जेवियर स्कूल में पढ़ते थे, तो डोना लोरेटो कॉन्वेंट में सौरव, डोना को इस हद तक चाहने लगे थे कि उनसे मिलने स्कूल तक पहुंच जाते।साल 1996 में इंग्लैंड दौरे पर जाने से पहले सौरव गांगुली ने डोना को प्रपोज कर दिया। दोनों परिवार बिजनेश पार्टनर भी रह चुके थे, लेकिन किसी अनबन के चलते दोनों में तनातनी बढ़ चुकी थी। दोनों परिवारों के बीच बातचीत बंद थी।

ऐसे में सौरव और डोना के लिए मुश्किलें और ज्यादा थीं।हालांकि दोनों ने अपने-अपने परिवार से बात की, लेकिन वह नहीं माने। इस बीच सौरव गांगुली का सेलेक्शन टीम इंडिया के लिए हो गया। जून 1996 को सौरव इंग्लैंड गए और वहां पहले ही मैच में सेंचुरी ठोक दी।

Related Post:  India vs West Indies : वेस्टइंडीज दौरे के लिए शिखर धवन फिट, आज होगा टीम इंडिया का ऐलान

वापस लौटे, तो अपने दोस्त की मदद से डोना के साथ कोर्ट मैरिज करने का फैसला लिया। उन्होंने ये बात अपने दोस्त मौली बनर्जी को बताई। सौरव, डोना को लेकर रजिस्ट्रार ऑफिस पहुंचे, लेकिन ये खबर मीडिया तक पहुंच चुकी थी। गांगुली को बीच रास्त से ही वापस लौटना पड़ा। इसके बाद मौली ने मैरिज रजिस्ट्रार को अपने घर बुलाया और वहां दोनों ने गुप-चुप तरीके से कोर्ट मैरिज कर ली। ये दिन था 12 अगस्त 1996 का।

1 comment

  • anilsingh

    […] post सौरव गांगुली के &#2332… appeared first on Hindi News, हिंदी […]

Input your search keywords and press Enter.