fbpx
Now Reading:
कार में लगी आग हादसा या साज़िश ? मृतिका के घरवालों ने पति पर लगाए गंभीर आरोप

कार में लगी आग हादसा या साज़िश ? मृतिका के घरवालों ने पति पर लगाए गंभीर आरोप

 

दिल्ली: राजधानी दिल्ली के अक्षरधाम मन्दिर के पास एक गाड़ी में जलकर महिला और उसकी दो बेटियों कि मौत के मामले में नया मोड़ आ गया। मृतिका महिला अंजना मिश्रा ने इस पूरे प्रकरण को हादसा नहीं साज़िश करार देते हुए महिला के पति पर कई गंभीर आरोप लगाएं हैं। महिला के परिवार वाले इस मामले कि सही जांच चाहते हैं। उनका आरोप है कि, जैसा इसे दिखाया जा रहा है वैसा नहीं हैं दिल्ली पुलिस इस मामले की तह तक पहुंचे तो सब कुछ साफ़ हो जाएगा।

Related Post:  दिल्ली में गर्लफ्रेंड ने बॉयफ्रेंड के चेहरे पर फेंका एसिड, फिर पुलिस को ऐसी कहानी सुनाई की सब पागल हो गए

रविवार को दिल्ली के अक्षरधाम मन्दिर के पास एक कार में अचानक आग लगने से एक महिला और उसकी दो बेटियों की मौत हो गई थी। जबकि कार चला रहा महिला का पति और एक बेटी की जान बच गई। अ

इस हादसे में अंजना के पति उपेन्द्र मिश्रा के अलावा उसकी 4 साल की बेटी निक्की भी इस घटना में बच गई। अंजना के परिवार वालों का आरोप है कि, अंजना का पति इस बात से नाराज़ था की उसे तीन तीन बेटियां है और अक्सर वो अंजना के साथ मारपीट भी करता था। इतना ही नहीं इस हादसे में बची उनकी छोटी बेटी निक्की बार-बार हाथ से इशारा करके बताती है कि पापा ने माचिस से जलाया।

Related Post:  शपथ ग्रहण समारोह: जब भीड़ में फंसी आशा भोसले, स्मृति ईरानी ने ऐसे की मदद

अंजना और उपेन्द्र की शादी 2005 में हुई थी। 3 साल पहले वो लोग गाजियाबाद के लोनी में शिफ्ट हुए थे। रविवार शाम गाजियाबाद के लोनी इलाके में रहने वाले उपेन्द्र मिश्रा अपनी पत्नी अंजना और तीन बेटियों माही (6 साल), सिद्धि (4 साल) और निक्की (1 साल) के साथ कालकाजी मंदिर दर्शन करने के बाद अक्षरधाम मंदिर की तरफ जा रहे थे। तभी अक्षरधाम मेट्रो स्टेशन के पास फ्लाईओवर पर उनकी गाड़ी मे अचानक आग लग गयी। उपेन्द्र अपनी एक 4 साल की बेटी निक्की के साथ बाहर निकलने में कामयाब हो गया लेकिन पत्नी और 2 बेटियां गाड़ी में ही फंसी रह गयी थी।

Related Post:  दिल्ली में आम आदमी और कांग्रेस के बीच नहीं हुआ गठबंधन, जारी की उम्मीदवारों की सूची
Input your search keywords and press Enter.