fbpx
Now Reading:
बेरहम ISIS: दस हजार यहूदियों को उतारा मौत के घाट, 3100 को तड़पा-तड़पा कर मारा

बेरहम ISIS: दस हजार यहूदियों को उतारा मौत के घाट, 3100 को तड़पा-तड़पा कर मारा

isis bruttaly killed people

नई दिल्ली (ब्यूरो, चौथी दुनिया)। आतंकी संगठन आईएसआईएस बेरहमी और खौफ की नई इबारतें हर दिन लिख रहा है। उनके हथियारों से निकलने वाले बारूद न तो धर्म देखते हैं और न ही उम्र। एक रिसर्च में सामने आया है कि आईएसआईएस अब तक 1000 यहूदियों को मौत के घाट उतार चुका है। रिपोर्ट के मुताबिक आईएसआईएस ने हमलों में खौफ और बेरहमी की सारी हदों को पार कर दिया है। रिपोर्ट में ये जानकारी नहीं मिल पाई है कि ईराक के विभत्स सफाए में कितने लोगों की मौत हुई थी।

PLOS मेडिसिन द्वारा छापी गई साप्ताहिक जरनल में कहा गया कि अगस्त, 2014 से ISIS ने अल्पसंख्यक समुदाय के 9,900 से ज्यादा लोगों को या तो अगवा कर दिया गया या फिर उनका कत्ल कर दिया गया। प्राप्त आंकड़ों के मुताबिक करीब 3100 लोगों की क्रूर तरीके से हत्या की गई। जिसमें से आधे से ज्यादा लोगों के सिर में गोली मारी गई। इसके अलावा लोगों की गला रेत कर या फिर जिंदा जला कर भी उनकी हत्या की गई। इसके अलावा कई कैदियों को भूख और प्यास से तड़पा कर भी मौत के द्वार पर पहुंचाया गया।

रिपोर्ट में कहा गया है कि हमलों में ज्यादातर मरने वाले पुरुष और युवा हैं। चौंकाने वाली बात ये है कि 15 साल से कम उम्र लोगों को ज्यादा निशाना बनाते हैं। करीब 6800 लोगों को अगवा किया गया जिसमे से आधे के बारे में कोई जानकारी ही नहीं है।

ये रिसर्च अमेरिका, यूके, इस्राइल और इराक के शोधकर्ताओं ने इस अध्यन को अंजाम दिया। इस शोध में ये भी सामने आया कि ISIS का सबसे खराब बुरा प्रभाव बच्चों पर पड़ा रहा है। यूएन ने भी इस संगठन को सबसे खतरनाक हमलावरों की लिस्ट में शामिल किया है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Input your search keywords and press Enter.