fbpx
Now Reading:
अगर पुलिस वाले सुन लेते महिला की गुहार, तो ना होती इज्जत नीलाम
Full Article 2 minutes read

अगर पुलिस वाले सुन लेते महिला की गुहार, तो ना होती इज्जत नीलाम

लखनऊ: उत्तरप्रदेश के मेरठ में गैंगरेप का शिकार हुई एक महिला की गुहार अगर पुलिस वाले सुन लेते तो उसकी इज्जत बीच बाज़ार नीलाम होने से बच जाती। पुल‍िस के वर‍िष्ठ अधिकारी उस समय हैरान रह गए जब एक मह‍िला ने खुद के साथ हुए गैंगरेप का वीड‍ियो उनके सामने रख द‍िया. पीड़‍िता ने अफसर से गुहार लगाई क‍ि आरोप‍ियों ने गैंगरेप का वीड‍ियो सोशल नेटवर्किंग साइट पर डाल द‍िया है, अब तो उन दर‍िंदों के खिलाफ कार्रवाई कीज‍िए.

दरअसल ये घटना 17 फरवरी 2019 की है जब मेरठ के परीक्षितगढ़ क्षेत्र में तीन लोगों ने पीड़िता के साथ रेप किया और अपने मोबाइल में गैंगरेप का वीड‍ियो बनाया. आरोपियों ने महिला को धमकी भी दी कि अगर वह पुलिस के पास जाएगी तो वो ये वीडियो वायरल कर देंगे. लेक‍िन उसने हिम्मत नहीं हारी. महिला पुलिस के पास गई और आरोपियों को गिरफ्तार करने की गुहार लगाई. मह‍िला को पुलिस पर विशवास था क‍ि आरोपी उसका वीड‍ियो वायरल नही कर पाएंगे पुलिस उन्हें पकड़ लेगी।लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की. इस बात की जानकारी म‍िलते ही आरोपियों ने उसका वीड‍ियो सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर अपलोड कर दिया. इसमें ना सिर्फ महिला का विश्वास पुलिस पर से उठ गया बल्कि उसकी इजात भी सरे आम नीलाम हो गई है।

महिला ने दावा किया कि वह कई बार स्थानीय थाने में गई लेकिन पुलिस ने उसकी शिकायत पर ध्यान नहीं दिया. पुलिस के मुताबिक, 17 फरवरी को ही अनीस अंसारी, शादाब और फरियाद नामक आरोपियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली गई थी लेकिन बाद में पीड़िता की इच्छा के मुताबिक मामले को क्राइम ब्रांच के हैंडओवर कर दिया गया था.

यूपी पुलिस का ये उदासीन चेहरा पुलिस की असंवेदनशीलता की पराकाष्ठा को दर्शा रहा है, इस मामले में पुलिस को जवाब जरूर देना चाहिए .

Input your search keywords and press Enter.