fbpx
Now Reading:
सबरीमाला विवाद: आस्‍था की आड़ में हिंसक प्रदर्शन, फेंके जा रहे बम
Full Article 3 minutes read

सबरीमाला विवाद: आस्‍था की आड़ में हिंसक प्रदर्शन, फेंके जा रहे बम

sabrimala issue

sabrimala issue

सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश का विरोध तेजी से पूरे प्रदेश में हिंसक रूप लेता जा रहा है. विरोध कर रहे प्रदर्शनकारियों ने अब नेताओं पर हमले करना शुरू कर दिया है. केरल के कन्‍नूर जिले के थलसरी में सीपीएम, बीजेपी नेताओं के ऊपर देसी बम फेंके गए हैं. जिससे इलाके में तनाव की स्थिति बन गई है. नेताओं के घरों में किसी के हताहत होने की खबर नहीं है.

शुक्रवार देर रात थलसेरी के विधायक एएन शमसीर, भाजपा के सांसद वी मुरलीधरन, माकपा के कन्‍नूर जिला सचिव पी शशि और पार्टी कार्यकर्ता विशक के घरों पर भी बम फेंके गए. पुलिस ने इन मामलों में शिकायत दर्ज कर ली है. इससे पहले गुरुवार को मंदिर में महिलाओं के प्रवेश के विरोध में बुलाए गए बंद के दौरान भी प्रदर्शनकारियों ने काफी हंगामा किया था. इस दौरान 100 से ज्यादा लोग घायल हुए थे, साथ ही पुलिस और मीडियाकर्मियों को भी चोटें आई थीं. इन घटनाओं के बाद से पुलिस ने इलाके में सुरक्षा कड़ी कर दी है.

माकपा ने अपने नेताओं के घरों पर हुए हमलों के लिए आरएसएस के स्वयंसेवकों को, जबकि भाजपा ने माकपा कार्यकर्ताओं को जिम्मेदार ठहराया है. केरल के डीजीपी लोकनाथ बेहेरा ने कहा कि कन्नूर जिले में शुक्रवार रात हुई वारदात के सिलसिले में कई लोगों को गिरफ्तार किया गया है. खबर है कि राज्‍य में अब तक 1738 प्रदर्शनकारियों को पुलिस गिरफ्तार कर चुकी है और 1108 मामले दर्ज किए जा चुके हैं.

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने करीब तीन महीने पहले मंदिर में हर उम्र की महिलाओं को प्रवेश की अनुमति दी थी. भाजपा और हिंदू संगठन इस फैसले का विरोध कर रहे हैं. वहीं, राज्य की माकपा सरकार कोर्ट के फैसले को लागू कराने के पक्ष में है.

मोदी का दौरा टला

इस हिंसक विरोध और तनाव के चलते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का केरल राज्य में रविवार को होने वाला दौरा टाल दिया गया है. मीडिया रिपोर्ट्स में भाजपा के एक स्थानीय वरिष्ठ नेता के हवाले से यह जानकारी दी गई. भाजपा नेता ने कहा, ‘‘पीएम की पठानमथिट्टा यात्रा 6 जनवरी को कुछ अन्य व्यस्तताओं के कारण स्थगित कर दी गई है. इसका मौजूदा स्थिति से कोई लेना-देना नहीं है, लेकिन हम इस स्थिति को और बढ़ाना नहीं चाहते.’’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Input your search keywords and press Enter.