fbpx
Now Reading:
सिलचर के स्कूल ने उठाया यह क्रन्तिकारी कदम
Full Article 2 minutes read

सिलचर के स्कूल ने उठाया यह क्रन्तिकारी कदम

Assam-Mentrual-Hygiene

 

Assam-Mentrual-Hygieneअसम के सिलचर में गवर्नमेंट गर्ल्स हायर सेकेंडरी और मल्टी पर्पस स्कूलों में मासिक धर्म स्वच्छता के लिए एक कमरा बनाया गया है. स्कूल के अधिकारी ने बताया कि यह सुविधा राज्य में सबसे पहले है. कमरे का निर्माण छात्रों के कॉमन रूम से सटा हुआ किया गया है. स्कूल में कक्षा 6 से 12 के छात्रों का नामांकन होता है. मासिक धर्म स्वच्छता कक्ष में एक सैनिटरी नैपकिन वेंडिंग मशीन लगाया गया है. रोटरी क्लब ऑफ ग्रेटर सिलचर के एक अधिकारी ने कहा कि  मशीन के विशिष्ट पॉकेट में पांच रुपये का सिक्का डालना होगा और मशीन से कुछ ही सेकंड में पैड निकल जाएगा. उन्होंने कहा कि कमरे में एक बिस्तर भी है जिसका इस्तेमाल लड़कियां बीमारी के समय कर सकती हैं.

Related Post:  नाबालिग से दुष्कर्म कर रहा बुजुर्ग रंगेहाथ धराया, गांववालों ने हकीम को जमकर पीटा

मासिक धर्म स्वच्छता कमरे का उद्घाटन करने वाले राज्य के वन मंत्री परिमल सुक्‍लवैद्य ने कहा कि कई महिला छात्रों के लिए मासिक धर्म का मतलब एक कठिन समय होता है, जिससे कई कक्षाएं छूट जाती हैं. यह सुविधा उन्हें अपने पीरियड्स के दौरान भी स्कूल में उपलब्‍ध रहेगी. उन्होंने कहा कि सेनेटरी पैड की अनुपलब्धता, अपर्याप्त स्वच्छता और स्कूलों में लड़कियों के लिए अलग शौचालय नहीं होना कुछ ऐसे कारण हैं जो समस्या को बढ़ाते हैं और स्कूल में लड़कियों की उपस्थिति पर बहुत अधिक प्रभाव डालते हैं. यही कारण है कि लड़कियां ग्रामीण इलाकों में स्‍कूल जाना छोड़ देती हैं.

Related Post:  असम: बाढ़ की स्थिति बिगड़ी, तीन लोगों की मौत, दो लाख से अधिक लोग प्रभावित

जिला अधिकारी (कछार) एस लक्ष्मण ने कहा कि स्वच्छता सुविधाओं में सुधार के साथ-साथ पर्याप्त स्वच्छता सेवाओं से लड़कियों की स्‍कूलों में उपस्थिति बढ़ाने में काफी प्रभाव पड़ सकता है. उन्होंने स्कूलों के निरीक्षक से जिले में अन्य शैक्षणिक संस्थानों की पहचान करने के लिए भी कहा,  जहां इस तरह की सुविधा स्थापित की जा सके.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Input your search keywords and press Enter.