fbpx
Now Reading:
जेल में बंद बाहुबली अमरमणि की बेटी तनुश्री को मिला दो पार्टियों से टिकट, सपा और कांग्रेस ने दिया टिकट
Full Article 3 minutes read

जेल में बंद बाहुबली अमरमणि की बेटी तनुश्री को मिला दो पार्टियों से टिकट, सपा और कांग्रेस ने दिया टिकट

लखनऊ. लोकसभा चुनाव से पहले यूपी के एक उम्मीदवार के नाम पर सबसे अधिक चर्चा है। यह नाम कवियत्री मधुमिता की हत्या के दोषी पूर्व मंत्री व बाहुबली अमरमणि त्रिपाठी की बेटी तनुश्री त्रिपाठी का है। कांग्रेस ने तनुश्री त्रिपाठी को महाराजगंज सीट से टिकट दिया है। जबकि इससे पहले शिवपाल यादव ने अपनी पार्टी प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) तनुश्री को इस सीट से उम्मीदवार बनाया था।

लंदन से की है तनुश्री ने पढ़ाई
तनुश्री त्रिपाठी का जन्म 11 जनवरी 1990 को गोरखपुर में हुआ था। नैनीताल के सेंट मेरी कॉन्वेंट स्कूल से शुरुआती पढ़ाई करने वालीं तनुश्री ने लंदन यूनिवर्सिटी से इंटरनेशनल रिलेशन में मास्टर्स किया है। इससे पहले दिल्ली यूनिवर्सिटी से हिस्ट्री ऑनर्स किया है। तनुश्री ने राजनीति का ककहरा अपने पिता से सीखा है। तनुश्री पिता अमरमणि त्रिपाठी को अपना आदर्श मानती हैं। तनुश्री अपने भाई अमनमणि के साथ पिता के ही विरासत को आगे बढ़ा रही हैं।

घर की परिस्थितियां देख छोड़ी थी जॉब
तनुश्री ने मास्टर्स करने के बाद यूके की कंपनी ‘के इंटरनेशनल’ में जॉब कर रही थीं। इस कंपनी में वो टेररिज्म हिट या पॉलिटिकली हिट एरिया में इंवेस्टमेंट के कैसे किया जाए, ऐसे प्रोजेक्ट पर काम कर रही थीं। लेकिन 2014 में घर की परिस्थितियां देखकर जॉब छोड़कर वापस आ गईं। यहां आकर उन्होंने अपनी छोटी बहन अलंकृता के साथ मिलकर भाई के लिए इलेक्शन कैंपेनिंग शुरू की। उस वक्त इनके पिता अमरमणि, मां मधुमणि और भाई अमनमणि जेल में थे।

भाई अमनमणि पर पत्नी की हत्या का आरोप
जेल में बंद पूर्व विधायक अमरमणि त्रिपाठी के बेटे अमनमणि त्रिपाठी पर पत्नी सारा सिंह की हत्या का आरोप है। वे जेल भी जा चुके हैं। 2017 में विधानसभा चुनाव अमनमणि जेल में थे। उन्होंने नौतनवा विधान सभा सीट से निर्दलीय चुनाव लड़ा था। प्रचार में तनुश्री लंदन से व उनकी बहन अलंकृता दिल्ली से पहुंची थीं। अलंकृता भी दिल्ली में टेक्सटाइल डिजाइनिंग की पढ़ाई कर चुकी हैं। इसी से रिलेटेड कंपनी में वो भी जॉब कर रही थीं। इस चुनाव में अमनमणि को जीत हासिल हुई थी। चुनाव जीतने के छह माह बाद अमनमणि जेल से बाहर आए थे।

न कांग्रेस को थामा न शिवपाल को छोड़ा
तनुश्री त्रिपाठी के भाई अमनमणि त्रिपाठी ने दावा किया है कि, वह (तनुश्री त्रिपाठी) कांग्रेस के टिकट पर ही चुनाव लड़ेंगी। उनके मुताबिक उन्होंने दोनों ही पार्टियों से टिकट की मांग नहीं की थी, लेकिन अब जब कांग्रेस की सूची में भी नाम है तो वह कांग्रेस के टिकट पर ही मैदान में उतरेंगी। हालांकि तनुश्री ने आधिकारिक तौर पर अभी न कांग्रेस ज्वाइन नहीं किया है और न ही शिवपाल यादव की पार्टी को छोड़ा है।

Input your search keywords and press Enter.