fbpx
Now Reading:
अमरनाथ यात्रा पर आतंकी नज़र, श्रद्धालुओं और पर्यटकाें को जल्द से जल्द घाटी छोड़ने का आदेश
Full Article 3 minutes read

अमरनाथ यात्रा पर आतंकी नज़र, श्रद्धालुओं और पर्यटकाें को जल्द से जल्द घाटी छोड़ने का आदेश

amaranth Yatara

आतंकी हमले के खतरे के मद्देनज़र अमरनाथ यात्रियों को जल्द से जल्द कश्मीर खाली करने को कहा गया है. साथ ही अमरनाथ यात्रा 4 अगस्त तक स्थगित कर दी गई है.

जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने अमरनाथ यात्रियों और पर्यटकों को एक एडवाइजरी जारी करते हुए कहा है कि वे राज्य में आतंकी हमले इनपुट मिले हैं. लिहाजा आप सभी जल्द से जल्द अपनी यात्रा पूरी करके वापस लौट जाएं.

आपको बता दें कि नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तान की तरफ से लगातार की जा रही गोलीबारी के चलते हालत तनाव पूर्ण बने हुए हैं. साथ ही कश्मीर में आतंकियों के खिलाफ सुरक्षाबलों का ऑपरेशन लगातर जारी है.  तो वही अमरनाथ यात्रा मार्ग पर तलाशी अभियान  के दौरान एक आतंकी ठिकाने का पता चला है. जहां से आइईडी और एम-24 अमेरिकी स्नाइपर राइफल बरामद हुई.  जिसे लेकर चिनार कॉर्प्स कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल के जे एस ढिल्लन ने कश्मीर में पाकिस्तानी सेना की साजिश का भी खुलासा किया है.

Related Post:  पाकिस्तान में हिंदू युवती की मौत पर बवाल, भाई ने लगाया हत्या का आरोप

लेफ्टिनेंट जनरल के जे एस ढिल्लन ने बताया कि आतंकवादियों के एक इलाके के पास पाकिस्तान सेना की एक बारूदी सुरंग भी बरामद हुई है. इससे यह स्पष्ट रूप से दिख रहा है कि पाकिस्तान सेना कश्मीर में आतंकवाद में शामिल है और हम आपको बताना चाहेंगे कि इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. लेफ्टिनेंट जनरल के जे एस ढिल्लन ने साथ ही कहा कि श्री अमरनाथ जी मार्ग के साथ एक आतंकी इलाके से एक एम-24 अमेरिकी स्नाइपर राइफल भी बरामद की गई.

Related Post:  जम्मू-कश्मीर के कुलगाम जिले में धमाका, एक की मौत कई घायल

साथ ही उन्होंने कहा कि नियंत्रण रेखा पर स्थिति नियंत्रण में है और बहुत शांतिपूर्ण है। पाकिस्तान की ओर से घुसपैठ की बोलियों को सफलतापूर्वक विफल किया जा रहा है.लेफ्टिनेंट जनरल केजेएस ढिल्लन ने साथ ही बताया कि IED के प्रकार हम जांच कर रहे हैं और IED विशेषज्ञ आतंकवादी जिन्हें हम पकड़ रहे हैं और उन्हें समाप्त कर रहे हैं।पाकिस्तान कश्मीर में शांति को बाधित करने की कोशिश कर रहा है। लेकिन हम कश्मीर के ‘आवाम’ को आश्वस्त करते हैं कि किसी को भी शांति भंग करने की अनुमति नहीं दी जाएगी.

Related Post:  अलगावादी नेता आसिया अंद्राबी पर NIA का शिकंजा, घर सीज़ किया बाहर पोस्टर लगाया

वहीं राज्य पुलिस महानिदेशक दिलबाग सिंह ने कहा जम्मू-कश्मीर में स्थिति पूरी तरह नियंत्रण में है. किसी को भी राज्य में अशांति फैलाने की इजाजत नहीं दी जाएगी.

सीआरपीएफ के डीजी जुल्फिकार हसन के मुताबिक अमरनाथ यात्रा में अभूतपूर्व बदलाव आया है और कई खतरों के बावजूद, यह शांतिपूर्ण रहा है, यात्रा को बाधित करने के गंभीर प्रयास हुए हैं, लेकिन सुरक्षाकर्मियों की कड़ी मेहनत, प्रौद्योगिकी का उपयोग और लोगों के सहयोग के कारण असफल रहे।

Input your search keywords and press Enter.