fbpx
Now Reading:
ISRO की बड़ी कामयाबी : चांद पर विक्रम लैंडर का पता चला, ऑर्बिटर ने भेजी पहली तस्वीर
Full Article 2 minutes read

ISRO की बड़ी कामयाबी : चांद पर विक्रम लैंडर का पता चला, ऑर्बिटर ने भेजी पहली तस्वीर

चंद्रयान 2 से जुड़ी बड़ी खबर सामने आई है. इसरो चीफ के. सिवन का कहना है कि हमने विक्रम लैंडर को चंद्रमा की सतह पर देखा है और ऑर्बिटर ने लैंडर की एक थर्मल तस्वीर क्लिक की. हालाकिं लैंडर विक्रम से अभी तक संपर्क स्थापित नहीं हो सका है. इसरो  के वैज्ञानिक लगातार लैंडर विक्रम से संपर्क स्थापित करने की कोशिश में जुटे हुए हैं.

बताया जा रहा है किविक्रम लैंडर लैंडिंग वाली तय जगह से 500 मीटर दूर मिला  है. चंद्रयान-2 के ऑर्बिटर में लगे ऑप्टिकल हाई रिजोल्यूशन कैमरे से विक्रम लैंडर की तस्वीर ली गई हैं. इसरो के वैज्ञानिक ऑर्बिटर के जरिए विक्रम लैंडर को संदेश भेजने की कोशिश कर रहे हैं ताकि, उसका कम्युनिकेशन सिस्टम ऑन किया जा सके. दूसरी तरफ वैज्ञानिक डेविएट  के तय मार्ग से डेविएट होने की वजहों का पता लगाने में जुटे हुए हैं. आशंका जताई जा रही है कि विक्रम लैंडर के साइड में लगे छोटे-छोटे 4 स्टीयरिंग इंजनों में से किसी एक ने काम न किया हो.

आपको बता दें कि‘चंद्रयान-2’ के लैंडर ‘विक्रम’ का चांद पर उतरते समय जमीनी स्टेशन से संपर्क टूट गया था. सपंर्क तब टूटा जब लैंडर चांद की सतह से 2.1 किलोमीटर की ऊंचाई पर था. बीते लैंडर को शनिवार-शक्रवार की दरम्यानी रात लगभग एक बजकर 38 मिनट पर चांद की सतह पर लाने की प्रक्रिया शुरू की गई थी. विक्रम’ ने ‘रफ ब्रेकिंग’ और ‘फाइन ब्रेकिंग’ सफलतापूर्वक पूरा कर लिया, लेकिन ‘सॉफ्ट लैंडिंग’ से पहले उसका संपर्क टूट गया था.

Input your search keywords and press Enter.